ताज़ा खबर
 

नए साल के संबोधन में उत्‍तर कोरिया के तानाशाह की US को धमकी- परमाणु बम का बटन हमेशा मेरी टेबल पर रहता है

किम जोंग ने कहा है कि यह कोई ब्लैकमेलिंग नहीं बल्कि वास्तविकता है।

नये साल के मौके पर उत्तर कोरिया के तानाशाह के संबोधन को दक्षिण कोरियाई शहर सियोल में सुनते लोग (फोटो-AP)

उत्तर कोरियाई के नेता किम जोंग उन ने अपने नए साल के एक संदेश में आज कहा कि परमाणु हथियारों का लॉन्च बटन हमेशा उसकी पहुंच में है।पिछले कई माह से उसके परमाणु कार्यक्रमों को लेकर विश्वस्तर पर तनाव की स्थिति है।उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार संपन्न राष्ट्र होने के अपने दावों को दोहराते हुए किम ने कहा, ‘‘परमाणु हथियारों का लॉन्च बटन हमेशा मेरी पहुंच में है। यह कोई ब्लैकमेलिंग नहीं बल्कि वास्तविकता है।’’ नये साल के संबोधन के मौके पर ग्रे सूट और टाई में नजर आए किम जोंग ने कहा कि उनके देश ने अपने परमाणु ताकत के लक्ष्य को हासिल कर लिया है और अब परमाणु बटन हमेशा उनकी टेबल पर रहता है। तानाशाह किम जोंग उन ने कहा, ‘अमेरिका को जानना चाहिए कि परमाणु बम का बटन मेरे टेबल पर है, अमेरिका का पूरा मैनलैंड इलाका हमारे परमाणु रेंज की जद में है, अमेरिका मेरे और मेरे देश के खिलाफ कभी भी युद्ध शुरू नहीं कर सकता है।’

हालांकि किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया से बेहतर संबंधों की वकालत की। उत्तर कोरिया के तानाशाह ने दक्षिण कोरिया में होने वाले विंटर ओलंपिक की कामयाबी का कामना की और संकेत दिया कि इन खेलों के लिए उत्तर कोरिया भी अपना दल भेज सकता है। किम जोंग ने नये साल के संबोधन में कहा, ‘दक्षिण में हाल ही में  होने जा रहे विंटर ओलंपिक कोरियाई देशों द्वारा अपनी खेल क्षमता के प्रदर्शन का बेहतरीन मौका होगा, मैं दिल से उम्मीद करता हूं कि ये आयोजन अच्छे परिणामों के साथ आयोजित किया जाएगा।’इससे पहले भी उत्तर कोरिया ने कहा था कि 2018 में भी वह अपनी परमाणु शक्ति को विकसित करने का अभियान जारी रखेगा। सरकारी मीडिया ने शनिवार (30 दिसंबर) को जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

सीएनएन ने कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) की रिपोर्ट के हवाले से बताया, “उनकी नीति में किसी प्रकार के बदलाव की अपेक्षा ना करें।” रिपोर्ट में कहा गया, “एक अजेय शक्ति के रूप में उत्तरी कोरिया के अस्तित्व को ना ही कमजोर किया जा सकता है और ना ही नकारा जा सकता है। एक जिम्मेदार परमाणु शक्ति के रूप में उत्तर कोरिया सभी बाधाओं को पार करते हुए स्वतंत्रता और न्याय की राह पर चलेगा। रिपोर्ट में वर्ष 2017 के दौरान देश की परमाणु उपलब्धियों की भी जानकारी दी गई। रिपोर्ट में कहा गया कि “जब तक अमेरिका और उसके अधीन शक्तियां परमाणु खतरा बनी रहती हैं तब तक उत्तर कोरिया आत्मरक्षा के लिए और हमले की संभावना के मद्देनजर अपनी परमाणु शक्तियों का विस्तार करता रहेगा।”रिपोर्ट में “अमेरिका के प्रमुख स्थानों” पर हमला करने की प्योंगयांग की नई क्षमताओं पर भी जोर डाला गया है। साथ ही इसमें उत्तर कोरिया को “विश्व स्तरीय परमाणु शक्ति” बताया गया है। रिपोर्ट में कहा गया कि उत्तर कोरिया अमेरिका की तरफ से युद्ध की क्रूरतम घोषणा का निश्चित रूप से जवाब देगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App