ताज़ा खबर
 

अमेरिकी नेवी को उत्तर कोरिया की चेतावनी, कहा- युद्ध में जवाब देने को तैयार हैं

कार्ल विन्सन लड़ाकू समूह ने शक्ति प्रदर्शन के लिए कोरियाई क्षेत्र की ओर बढ़ने के क्रम में इस सप्ताहांत की अपनी नियोजित आॅस्ट्रेलिया यात्रा को रद्द कर दिया।

Author सोल | April 11, 2017 12:27 PM
उत्तर कोरिया ने वाशिंगटन द्वारा कोरिया प्रायद्वीप पर की गई नौसैन्य लड़ाकू समूह की तैनाती की आज आलोचना की तथा तनाव के और बढ़ने के साथ ही चेतावनी दी कि वह ‘युद्ध’ के लिए तैयार है। (AP)

उत्तर कोरिया ने वाशिंगटन द्वारा कोरिया प्रायद्वीप पर की गई नौसैन्य लड़ाकू समूह की तैनाती की आज आलोचना की तथा तनाव के और बढ़ने के साथ ही चेतावनी दी कि वह ‘युद्ध’ के लिए तैयार है। कार्ल विन्सन लड़ाकू समूह ने शक्ति प्रदर्शन के लिए कोरियाई क्षेत्र की ओर बढ़ने के क्रम में इस सप्ताहांत की अपनी नियोजित आॅस्ट्रेलिया यात्रा को रद्द कर दिया। वाशिंगटन ने इसके जरिए संकेत दिया है कि वह प्योंगयांग की परमाणु क्षमताओं को खत्म करने के लिए कार्रवाई कर सकता है।

उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए के अनुसार, उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इससे साबित होगा कि अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर हमला बोलने के लिए जल्दबाजी में जो कदम उठाया है, वह एक गंभीर चरण में पहुंच गया है।’ उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका जैसा भी युद्ध चाह रहा हो, उत्तर कोरिया उसका जवाब देने के लिए तैयार है।’

अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया पर मिसाइल हमले का आदेश देने के अलावा अपने सलाहकारों से कहा है कि वे प्योंगयांग को काबू करने के विभिन्न विकल्पों पर विचार करें। ट्रंप ने इससे पहले यह भी चेतावनी दी थी कि यदि उत्तर कोरिया का एकमात्र बड़ा सहयोगी चीन अपने पड़ोसी के परमाणु हथियारों पर नियंत्रण में मदद करने में विफल भी रहता है, तो भी अमेरिका एकपक्षीय कार्रवाई कर सकता है।

कुछ दिन पहले ही उत्तर कोरिया ने परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने आज जापान सागर में एक बैलिस्टिक मिसाइल दागी। दक्षिण कोरिया और अमेरिकी सेना ने इस बात की पुष्टि की है। इससे पहले उत्तर कोरिया ने चेतावनी दी थी कि यदि वैश्विक समुदाय प्रतिबंध कड़े करता है तो वह जवाबी कार्रवाई करेगा।
दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि मिसाइल करीब 60 किलोमीटर दूर तक गई। उसने कहा, ‘‘सेना उत्तर कोरिया के भड़काऊ कदमों पर निकटता से नजर रख रही है और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रखी गई है।’ अमेरिकी सेना ने कहा कि मध्यम दूरी की केएन 15 बैलिस्टिक मिसाइल दागी गई। यह पता लगाया गया है कि इस मिसाइल से अमेरिका को कोई खतरा नहीं था।

हिंद-एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सैन्य कमान ने कहा, ‘‘अमेरिकी प्रशांत कमान सुरक्षा बनाए रखने के लिए कोरिया गणराज्य और जापान के अपने सहयोगियों के साथ मिलकर निकटता से काम करने को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध है।’ अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने पुष्टि की कि प्योंगयांग ने ‘‘एक और’’ मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल दागी है। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘अमेरिका उत्तर कोरिया के बारे में काफी बोल चुका है। हमारे पास करने के लिए और कोई टिप्पणी नहीं है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App