ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप की धमकी का उत्तर कोरिया ने उड़ाया मजाक, कहा- कुत्ते भौंकते रहते हैं

उत्तर कोरिया अमेरिका के तमाम प्रतिबंधों को नजरअंदाज करते हुए अपना परमाणु मिसाइल कार्यक्रम जारी रखे हुए है और लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है।

उत्तर कोरिया के तानाशाह कवैल काउंटी में स्थित फलों के एक बगान का दौरा करते हुए ( फोटो- REUTERS 21-07-17)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी को उत्तर कोरिया ने कुत्ते का भौंकना करार दिया है। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री ने कहा है कि उनका देश अमेरिकी गीदड़ भभकियों से डरने वाला नहीं है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र में अपने पहले संबोधन में उत्तर कोरिया को चेतावनी दी थी कि अगर उत्तर कोरिया ने अमेरिका या उसके सहयोगियों पर हमला किया तो वे उत्तर कोरिया का नामोनिशान मिटा देंगे। अमेरिका ने ये धमकी तब दी है जब दोनों देशों के बीच कई महीनों से तनाव चरम पर है। उत्तर कोरिया अमेरिका के तमाम प्रतिबंधों को नजरअंदाज करते हुए अपना परमाणु मिसाइल कार्यक्रम जारी रखे हुए है और लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है। 15 सितंबर को भी उत्तर कोरिया ने जापान की सीमा में मिसाइल परीक्षण किया था।संयुक्त राष्ट्र की बैठक में शिरकत करने पहुंचे उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो से जब पत्रकारों ने सवालों की बौछार कर दी तो उन्होंने एक कहावत से ट्रंप को जवाब दिया। री योंग हो ने कहा, ‘एक कहावत है कि कुत्ते भौंकते रहते हैं मार्च चलता रहता है।’ इसके बाद विदेश मंत्री री योंग अपने होटल के कमरे में चले गये। लेकिन जाते जाते उन्होंने एक और बात कही, ‘यदि वे लोग अपने कुत्ते के भौंकने की आवाज से हमें डराना चाह रहे हैं तो निश्चित रूप से वे लोग कुत्तों का सपना देख रहे हैं।’

बता दें कि प्रतिबंधों की वजह से अलग-थलग पड़ा उत्तर कोरिया ने सैन्यवाद को अपने राष्ट्रीय विचारधारा का मूल बिंदू बना लिया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि अमेरिकी दादागिरी का सामना करने के लिए उसे एक परमाणु प्रतिरोधक क्षमता निश्चित रूप से चाहिए।प्योंगयांग का एक मात्र उद्देश्य अमेरिकी ठिकानों और अमेरिकी जमीन तक हमला करने की काबिलियत हासिल करना है। उत्तर कोरिया ने हाल के सप्ताह में कई बार अपनी मारक क्षमता का प्रदर्शन किया है। सितंबर में ही उत्तर कोरिया ने दावा है कि उसने ऐसे हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है जिसमें रॉकेट लोड कर हमला किया जा सकता है। उत्तर कोरिया ने जुलाई में दो इंटरकॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल का भी परीक्षण किया है। दावा किया गया है कि इस मिसाइल की जद में अमेरिका के ज्यादातर इलाके आते हैं। लगातार मिसाइल परीक्षणों की वजह से अमेरिका, दक्षिण कोरिया और जापान का धैर्य जवाब दे रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App