ताज़ा खबर
 

नोर्थ कोरिया ने फिर दागी मिसाइल, इस बार नापी जापान की जमीन

उत्तर कोरिया ने मंगलवार को मिसाइल दागकर इलाके में तनाव बढ़ा दिया है।

उत्तर कोरिया ने 22 मई 2017 को एक अज्ञात स्थान पर एक मिसाइल का परीक्षण किया। (फोटो-AP)

उत्तर कोरिया ने मंगलवार को जापान के ऊपर से मिसाइल दागकर इलाके में तनाव बढ़ा दिया है। दरअसल उत्तर कोरिया ने मंगलवार को मिसाइल परीक्षण किया। यह मिसाइल जापान के होक्काइदो द्वीप के प्रशांत सागर में जा गिरी। जापान के चीफ कैबिनेट सेकेट्ररी योशीहिदे सुगा ने बताया कि उत्तर कोरिया के पश्चिमी तट से सुबह लगभग 5.58 बजे मिसाइल परीक्षण किया और मिसाइल ने होक्काइदो के केप एरिमो को सुबह लगभग 6.06 बजे पार किया। उत्तर कोरिया ने अपने आक्रामक रवैये से अमेरिका और उसके करीबी सहयोगी को स्पष्ट कर दिया है कि वॉर गेम में वह पीछे नहीं हटेगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सुगा के हवाले से बताया कि मिसाइल ने 2,700 किलोमीटर का सफर तय किया और सुबह लगभग 6.12 बजे प्रशांत सागर में जा गिरीं। उन्होंने बताया कि यह भी संभव है कि मिसाइल तीन हिस्सों में टूटकर जापानी सागर में जा गिरी। जापान सरकार स्थिति पर नजर रखे हुए है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि इस मिसाइल परीक्षण से क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा को खतरा है और जापान इसका पुरजोर विरोध करता है। उन्होंने कहा कि जापान संयुक्त सुरक्षा परिषद की आपात बैठक की मांग करेगा। उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद जापान सरकार ने राष्ट्रीय परिषद की बैठक बुलाई।

इधर जापान ने अमेरिका से उत्तर कोरिया पर दबाव बढ़ाने को भी कहा है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे कि जापानी लोगों की सुरक्षा के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। वहीं सियोल के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टॉफ ने कहा कि नॉर्थ कोरिया की इस मिसाइल ने 2,700 किलोमीटर की दूरी तय की और 550 किलोमीटर की अधिकतम ऊंचाई तक गई। मिसाइल को उत्तरी जापान के होकाइदो आइसलैंड के ऊपर से दागा गया। माना जा रहा है कि 2009 के बाद यह पहली बार है जब नॉर्थ कोरिया की मिसाइल ने जापान को पार किया है।

जानकारी के लिए बता दें कि इस साल नॉर्थ कोरिया ने लगातार और तेजी से मिसाइल परीक्षण किए हैं। कुछ विश्लेषकों का मानना है कि उत्तरी कोरिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल खत्म होने से पहले ऐसा हथियार हासिल कर सकता है, जिसके जरिए वह अमेरिका को निशाना बना सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App