ताज़ा खबर
 

न्‍यूक्लियर टेस्‍ट की तैयारी कर रहा है नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग, सैटेलाइट तस्‍वीरों से हुआ खुलासा

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने उत्‍तरी कोरिया पर उसके परमाणु तथा बैलिस्टिक मिसाइलों कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए सैन्‍य कार्रवाई की संभावना से इनकार नहीं किया था।
अपनी सनक के लिए कुख्‍यात किम जोंग उन के बारे में कहा जाता है कि वह छोटी छोटी बातों पर अपने ही साथियों और रिश्‍तेदारों को मरवा देते हैं।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को जवाब देने के लिए उत्‍तरी कोरिया एक परमाणु टेस्‍ट करने की तैयारी में है। द गार्जियन ने अपनी रिपोर्ट में अमेरिकी मॉनिटरिंग ग्रुप 38 नॉर्थन के हवाले से लिखा है कि उत्‍तरी कोरिया के पंजाई-री साइट की सैटेलाइट तस्‍वीरों से ऐसा प्रतीत होता है कि परीक्षण की तैयारी पूरी कर ली गई है। 2006 के बाद से उत्‍तर कोरिया अब तक 5 न्‍यूक्लियर टेस्‍ट कर चुका है। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने उत्‍तरी कोरिया पर उसके परमाणु तथा बैलिस्टिक मिसाइलों कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए सैन्‍य कार्रवाई की संभावना से इनकार नहीं किया था। अपनी वेबसाइट पर 38 नॉर्थ ने कहा, ”12 अप्रैल को उत्‍तरी कोरिया के पंजाई-री न्‍यूक्लियर टेस्‍ट साइट की सैटेलाइट तस्‍वीरों में उत्‍तरी पोर्टल के चारों तरफ गतिविधि दिखी है, मुख्‍य प्रशासनिक इलाके में नई हलचल हुई है और साइट के कमांड सेंटर के पास कई कर्मचारी देखे गए हैं। मुख्‍य प्रशासनिक क्षेत्र के आस-पास लगभग 11 उपकरण या सप्‍लाई रखी गई है, जो कि कर्मचारियों का समूह या कुछ लोगों के चलने की तस्‍वीर हो सकती है।” दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने इस आशंका को इतना महत्‍व नहीं दिया है।

अमेरिका ने उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम के खिलाफ रक्षात्मक तैयारी को बढ़ाते हुए अमेरिकी नौसैन्य के एक पोत के साथ मारक समूह को कोरियाई प्रायद्वीप की ओर भेजा है। इस कदम से कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ेगा और यह उस वक्त हो रहा है जब हाल ही में अमेरिका ने सीरिया पर मिसाइल हमला किया और इसे उत्तर कोरिया के लिए चेतावनी के तौर पर भी देखा गया जो अपना महत्वाकांक्षी परमाणु कार्यक्रम छोड़ने से इनकार करता रहा है।

उत्तर कोरिया ने सीरिया पर किए गए मिसाइल हमले को ‘असहनीय आक्रमण’ की गतिविधि करार दिया था और कहा था कि इस हमले ने उत्तर कोरिया के परमाणु प्रतिरोध की दिशा में किए जा रहे प्रयास को सही ठहराया है। अमेरिकी प्रशांत कमान के प्रवक्ता कमांडर डी बेनहाम ने बताया, “अमेरिकी प्रशांत कमान ने ऐहतिहातन कदम उठाते हुए कार्ल विनसन मारक समूह उत्तर को आदेश दिए कि वह पश्चिमी प्रशांत में अपनी तैयारी और मौजूदगी बनाकर रखें।”

उन्होंने बताया, “अपने मिसाइल परीक्षणों के दुस्साहसी कार्यक्रमों और परमाणु हथियारों की क्षमता हासिल करने के पीछे पड़े होने के कारण उत्तर कोरिया क्षेत्र में सबसे पहला खतरा बना हुआ है।” इस मारक समूह में निमित्ज श्रेणी का विमान वाहक यूएसएस कार्ल विनसन, एक कैरियर एयर विंग, दो लक्षित मिसाइल विध्वंसक और एक लक्षित मिसाइल क्रूजर शामिल हैं। इस समूह को असल में आॅस्ट्रेलिया जाना था लेकिन वह इसके बजाय सिंगापुर से पश्चिमी प्रशांत महासागर में चला गया।

परमाणु क्षमता से लैस मिसाइल अग्नि-5 का परीक्षण, 5000 किमी तक मार कर सकती है

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.