ताज़ा खबर
 

‘उत्तर कोरिया ने किया 5वां और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण’

उत्तर कोरिया ने अपना पहला परमाणु परीक्षण वर्ष 2006 में किया था, जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र उस पर पांच बार प्रतिबंध लगा चुका है।

Author सोल | Updated: September 9, 2016 1:17 PM
उत्तर कोरिया द्वारा सोमवार (5 सितंबर,2016) को किए गए तीन बैलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण की तस्वीर। (AP/PTI)

मुख्य उत्तर कोरियाई परमाणु परीक्षण स्थल पर 5.3 तीव्रता के ‘कृत्रिम भूकंप’ का पता चलने के बाद दक्षिण कोरिया ने शुक्रवार (9 सितंबर) को कहा कि उत्तर कोरिया ने शायद अपना पांचवां और अब तक का सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण किया है। दक्षिण कोरिया की यह टिप्पणी उत्तर कोरिया के प्युंग्यी-री परमाणु परीक्षण स्थल पर 5.3 तीव्रता के भूकंप का पता चलने के बाद आई है। उत्तर कोरिया शुक्रवार को अपना स्थापना दिवस भी मना रहा है। देश की स्थापना वर्ष 1948 में हुई थी।

योनहाप समाचार एजेंसी के अनुसार, सोल की मौसम एजेंसी ने यह भी कहा कि अमेरिका और यूरोप सहित दुनिया भर में भूकंप की जांच करने वालों ने जिस भूकंप का पता लगाया है वह ‘संभवत: उत्तर कोरिया का पांचवां परमाणु परीक्षण’ था। एजेंसी के अनुसार, दक्षिण कोरिया की मौसम एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया ‘उत्तर कोरिया में 5.0 तीव्रता का कृत्रिम भूकंप आया जो संभवत: परमाणु परीक्षण था।’ एक अन्य अधिकारी ने एजेंसी को बताया ‘इस बात की अधिक संभावना है कि जगह और भूकंप की तीव्रता को देखते हुए यह परमाणु परीक्षण लगता है।’

दक्षिण कोरियाई रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने पत्रकारों को बताया, ‘हम मानते हैं कि यह एक परमाणु परीक्षण था। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या यह सफल था। विस्फोट तकरीबन 10 किलोटन का था।’ जापान की मौसम एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि भूगर्भीय आंकड़ा असामान्य है और वह उसका विश्लेषण कर रही है। सरकारी प्रसारक एनएचके के मुताबिक, एक अधिकारी ने बताया ‘जिस तरह की तरंगे उठीं, वह सामान्य भूकंपीय तरंगों से अलग हैं।’

उत्तर कोरिया ने अपना पहला परमाणु परीक्षण वर्ष 2006 में किया था, जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र उस पर पांच बार प्रतिबंध लगा चुका है। विश्व निकाय के प्रतिबंधों की अवज्ञा करते हुए उत्तर कोरिया ने इस साल कई मिसाइल परीक्षण भी किए हैं। उत्तर कोरिया ने सोमवार (5 सितंबर) को उस समय तीन बैलिस्टिक मिसाइलों का भी परीक्षण किया जब विश्व शक्ति माने जाने वाले देशों के नेता जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए चीन में एकत्र हुए थे। बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने ‘बिल्कुल सही’ बताया जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चेताया था कि इन परीक्षणों से दबाव बढ़ेगा।

इस घटना पर प्रतिक्रिया करते हुए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबे ने कहा, ‘अगर उत्तर कोरिया ने कोई परमाणु परीक्षण किया है तो इसे कभी बरदाश्त नहीं किया जाएगा। हमें एक दृढ़ विरोध दर्ज करना चाहिए।’ उधर वाशिंगटन में, अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता नेड प्राइस ने बताया ‘हमें कोरियाई प्राय:द्वीप में उत्तर कोरियाई परमाणु स्थल के तौर पर चर्चित क्षेत्र में भूगर्भीय गतिविधि की जानकारी है।’ प्राइस ने बताया ‘हम हमारे क्षेत्रीय भागीदारों के साथ समन्वय करते हुए स्थिति पर लगातार नजर रख रहे हैं।’

उत्तर कोरिया ने सोमवार को उस समय तीन बैलिस्टिक मिसाइलों का भी परीक्षण किया जब विश्व शक्ति माने जाने वाले देशों के नेता जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए चीन में एकत्र हुए थे। बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने ‘बिल्कुल सही’ बताया जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चेताया था कि इन परीक्षणों से दबाव बढ़ेगा। उत्तर कोरिया के प्रमुख सहयोगी चीन के लिए यह परमाणु परीक्षण एक अन्य झटका है। साथ ही इससे उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर छह देशों की वार्ता बहाल होने की संभावना भी धूमिल हो गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमेरिका: टेक्सास के हाई स्कूल में गोलीबारी, एक की मौत-एक अन्य घायल
2 हम नहीं चाहते हैं कि भारत-पाकिस्तान के बीच का तनाव ‘किसी घटना’ में बदले: अमेरिका
3 उत्तर कोरिया ने किया अपना अब तक का सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण