ताज़ा खबर
 

उत्तर कोरिया मिसाइल परीक्षण उकसावे और अस्थिरता लाने वाला खतरनाक आचरण हैः अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा है कि डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) द्वारा नवीनतम मिसाइल परीक्षण उकसावे की कार्रवाई है।

एच.आर. मैकमास्टर ने अमेरिकन ब्रॉडकॉस्टिंग कंपनी के साथ एक साक्षात्कार में कहा, “यह उत्तर कोरियाई (डीपीआरके) शासन की ओर से उकसावे वाला और अस्थिरता लाने वाला खतरनाक आचरण है।

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा है कि डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) द्वारा नवीनतम मिसाइल परीक्षण उकसावे की कार्रवाई है। एच.आर. मैकमास्टर ने अमेरिकन ब्रॉडकॉस्टिंग कंपनी के साथ एक साक्षात्कार में कहा, “यह उत्तर कोरियाई (डीपीआरके) शासन की ओर से उकसावे वाला और अस्थिरता लाने वाला खतरनाक आचरण है। दक्षिण कोरिया के जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ (जेसीएस) ने कहा था कि डीपीआरके ने रविवार तड़के अपने पूर्वी तट से मिसाइल लांच किया था, हालांकि इस अज्ञात मिसाइल लांच को असफल माना गया था। इसके बाद पेंटागन ने भी डीपीआरके के नवीनतम मिसाइल लांच के असफल होने की पुष्टि की थी।

बता दें कि इससे पहले चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने 14 अप्रैल कहा था कि उत्तर कोरिया को लेकर किसी भी क्षण संघर्ष छिड़ सकता है। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका के साथ बढ़ रहे तनाव को लेकर चेतावनी दी कि किसी युद्ध में कोई भी विजेता नहीं होता। यह तीखा बयान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर कोरिया की समस्या से निपट लिया जाएगा। राष्ट्रपति ने यह बयान उन अटकलों पर दिया था जिनमें कहा गया था कि उत्तर कोरिया एक अन्य परमाणु या मिसाइल परीक्षण की तैयारी कर सकता है। वांग ने कहा, हाल ही में एक तरफ अमेरिका और दक्षिण कोरिया हैं तथा दूसरी ओर उत्तर कोरिया और दोनों के बीच तनाव बढ़ गया है और ऐसा लगता है कि किसी भी क्षण लड़ाई छिड़ सकती है।

फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क अरॉल्ट के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान उन्होंने कहा, अगर युद्ध होता है तो इसका नतीजा ऐसा होगा जिसमें हर किसी को नुकसान होगा और कोई भी विजेता नहीं हो सकता। वांग ने कहा कि जो भी पक्ष लड़ाई के लिए उकसाता है उसे ऐतिहासिक जिम्मेदारी समझ लेनी चाहिये और इसका भुगतान करने के लिए तैयार रहें। व्हाइट हाउस के विदेश नीति के एक सलाहकार ने शुक्रवार को कहा था कि उत्तर कोरिया के हथियार कार्यक्रमों के जवाब में अमेरिका सैन्य विकल्पों का आकलन कर रहा है। वांग ने कहा, बातचीत एकमात्र संभावित समाधान है।

अमेरिका ने अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट के एक परिसर में गुरुवार (13 अप्रैल) को एक बम गिराया। उसपर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की। डोनाल्ड ट्रंप ने MC-130 फाइटर एयरक्राफ्ट द्वारा अफगानिस्तान में आतंकी संगठन ISIS की गुफाओं पर गिराए गए GBU-43B को लेकर कहा कि उन्हें अपनी मिलिट्री पर बेहद प्राउड है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उन्होंने अफगानिस्तान में बम गिराए जाने की अनुमति दी थी और उन्होंने इस अभियान को अत्यंत सफल करार दिया। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, यह वास्तव में एक सफल अभियान रहा। हमें हमारी सेना पर गर्व है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App