ताज़ा खबर
 

भारत की चेतावनी के बावजूद नहीं बदला पाकिस्तान का फैसला, कुलभूषण जाधव की फांसी पर कोई ‘समझौता’ नहीं

कूलभूषण जाधव को ‘जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों’ का दोषी करार देते हुए फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने मौत की सजा सुनाई और जनरल बाजवा ने इस सजा की पुष्टि की।
Author इस्लामाबाद | April 13, 2017 19:41 pm
भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव (File Photo)

पाकिस्तान के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सुनाई गई मौत की सजा के मामले पर कोई ‘समझौता’ नहीं करने का फैसला किया है। गौरतलब है कि भारत ने चेतावनी दी है कि जाधव को फांसी देने का द्विपक्षीय संबंधों पर गंभीर असर होगा। इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स (आईएसपीआर) ने एक बयान में कहा कि सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कोर कमांडरों की बैठक में यह फैसला किया गया। बयान के अनुसार वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों को जाधव के बारे में जानकारी दी गई और यह फैसला किया गया कि ‘इस तरह की राष्ट्र विरोधी गतिविधियों पर कोई समझौता नहीं होगा।’ कूलभूषण की फांसी की सजा को लेकर भारत द्वारा लगातार आपत्ति जताई जा रही है।

जाधव को ‘जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों’ का दोषी करार देते हुए फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने मौत की सजा सुनाई और जनरल बाजवा ने इस सजा की पुष्टि की। पाकिस्तान का दावा है कि उसके सुरक्षा बलों ने पिछले साल तीन मार्च को बलूचिस्तान प्रांत से जाधव को गिरफ्तार किया था जो ईरान की सीमा से कथित तौर पर दाखिल हुआ है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चेतावनी दी है कि जाधव को फांसी देना ‘सुनियोजित हत्या’ होगी और पाकिस्तान को द्विपक्षीय संबंधों पर पड़ने प्रभावों के बारे में सोचना चाहिए।

वहीं, गुरुवार को भारत की ओर से कहा गया है कि उन्हें भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के बारे में कोई जानकारी नहीं है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में मौत की सजा पाने वाले भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव निर्दोष हैं। कुलभूषण की लोकेशन को लेकर मंत्रालय की ओर से कहा गया कि उन्हें जाधव की मौजूदा हालत के बारे में भी नहीं पता है, क्योंकि इस्लामाबाद ने जाधव से भारतीय उच्चायुक्त के संपर्क के अनुरोधों को स्वीकार नहीं किया। बागले ने कहा, “हमारे पास किसी तरह की कोई सूचना नहीं है और पाकिस्तान सरकार ने भी जाधव के बारे में हमें कुछ नहीं बताया है कि इस समय जाधव कहां हैं, उन्हें कब और कैसे गिरफ्तार किया गया और इस समय उनकी हालत कैसी है।” बागले ने फिर से दोहराया कि जाधव के खिलाफ गोपनीय तरीके से हुई सैन्य अदालत की सुनवाई की कोई विश्वसनीयता नहीं हैं।

 

 

वीडियो: कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा मिलने पर भारत का कड़ा रुख; रोकी पाकिस्तानी कैदियों की रिहाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.