ताज़ा खबर
 

हर तरफ बिखरा हुआ था खून, चश्मदीद ने मस्जिद में फायरिंग की सुनाई दिल दहला देने वाली कहानी

न्यूजीलैंड में दो मस्जिद में गोलीबारी के बाद स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है। पुलिस ने लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है। पुलिस की तरफ से हमलावरों को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के आंखों के सामने गोलीबारी के बाद अभी भी वह खूनी मंजर दिख रहा है।

Author Updated: March 15, 2019 2:51 PM
न्यूजीलैंड के सेंट्रल क्राइस्टचर्च में मस्जिद के बाहर खड़े लोग। फोटोः एपी

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में शुक्रवार को दो मस्जिदों में फायरिंग के बाद का मंजर दिल दहला देने वाला था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सेना की तरह वर्दी पहने एक आदमी अलनूर मस्जिद में घुस गया। उसके हाथ में ऑटोमेटिक राइफल थी। उसने अचानक मस्जिद में मौजूद लोगों पर फायरिंग करनी शुरू कर दी। गोलीबारी के बाद चारों तरफ खून ही खून बिखरा हुआ था। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि उसने तीन लोगों को जमीन पर गिरे हुए देखा। इमारत के बाहर खून बिखरा हुआ था। गोलीबारी में 40 लोगों के मारे जाने की खबर है।
एक प्रत्यक्षदर्शी ने रेडियो न्यूजीलैंड को बताया कि उसने गोलियों की आवाज सुनी उसने देखा कि कम से कम चार लोग जमीन पर गिरे हुए थे। चारों तरफ खून बहा हुआ था। क्राइस्टचर्च से सांसद एमी एडम्स ने कहा, ‘क्राइस्टचर्च के मस्जिद में हुई फायरिंग को सुनकर भयभीत हूं। इस तरह की घटना को कभी भी न्यायसंगत नहीं ठहाराया जा सकता है।’ जिस समय गोलीबारी हो रही थी उसी समय बांग्लादेश की क्रिकेट टीम भी मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए आई हुई थी। टीम के एक कोच ने बताया कि टीम के सभी सदस्य सुरक्षित हैं। पुलिस ने बताया कि एक आदमी को हिरासत में लिया गया है लेकिन अभी यह पूरा यकीन नहीं है कि इस हमले कोई अन्य भी शामिल है या नहीं है। पुलिस ने लोगों को मस्जिद से दूर रहने की सलाह दी है।

 

हमले में मलेशिया का एक नागरिक भी घायल हुआ है। न्यूजीलैंड में मलेशिया के दूतावास ने इसकी पुष्टि की। पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने कहा, ‘जहां तक हमें जानकारी है, दो मस्जिदों में लोग मारे गए हैं।’ न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा ऑर्डन ने कहा कि इस तरह की चरम हिंसा की न्यूजीलैंड में कोई जगह नहीं है। गार्डियन की खबर के अनुसार पुलिस ने न्यूजीलैंड के मस्जिदों को अपने दरवाजे बंद करने को कहा है। पुलिस ने कई विस्फोटक बरामद करने के बाद चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हमले के बाद से सोशल मीडिया पर हमले का एक वीडियो वायरल हो रहा है। अमेरिका के मुस्लिम सिविल राइट्स ग्रुप ने गूगल, ट्वीटर और फेसबुक से न्यूजीलैंड में हुए हमले के इस वीडियो को हटाने का आग्रह किया है। मुस्लिम एडवोकेट्स के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए ट्वीट में कहा गया है कि यदि आपको यह वीडियो दिखता है तो इसके बारे में रिपोर्ट करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 New Zealand Christchurch Mosque Shooting Updates: मस्जिद पर आतंकी हमले के बाद बांग्लादेश ने रद्द किया दूसरा टेस्ट मैच
2 न्यूजीलैंड की मस्जिद में गोलीबारी, 49 की मौत, बाल-बाल बचे बांग्लादेश के क्रिकेटर्स
3 लोकसभा चुनाव को लेकर पाक पीएम इमरान खान ने जताई बड़ी उम्मीद