ताज़ा खबर
 

ट्रेन में हिंदी बोलने पर गालियां देने लगी लड़की, फिर इस कंडक्टर ने जो किया उसकी हो रही जमकर तारीफ

ट्रेन में एक भारतीय मूल का व्यक्ति अपनी पत्नी से फोन पर हिंदी में बात कर रहा था। बस इसी बात पर व्यक्ति के बराबर में बैठी किशोर युवती इस कदर नाराज हो गई कि वह भारतीय मूल के व्यक्ति पर चीख पड़ी।

Author नई दिल्ली | August 13, 2019 2:42 PM
न्यूजीलैंड की मेटलिंक ट्रेन सेवा में घटी घटना।

ट्रेन में सहयात्री के हिंदी में बात करने पर एक लड़की इस कदर नाराज हो गई कि उसने सहयात्री को गालियां देना शुरू कर दिया। जब इस बात की खबर ट्रेन की कंडक्टर को लगी तो उसने उक्त लड़की को ट्रेन से उतार दिया। अब लोग महिला कंडक्टर की तारीफ कर रहे हैं। बता दें कि यह घटना न्यूजीलैंड की है।

क्या है मामलाः खबर के अनुसार, न्यूजीलैंड के शहर वेलिंगटन से अपर हट इलाके के लिए मेटलिंक ट्रेन चलती है। इसी ट्रेन में एक भारतीय मूल का व्यक्ति अपनी पत्नी से फोन पर हिंदी में बात कर रहा था। बस इसी बात पर व्यक्ति के बराबर में बैठी किशोर युवती इस कदर नाराज हो गई कि वह भारतीय मूल के व्यक्ति पर चीख पड़ी और हिंदी में बात करने पर नाराजगी जतायी।

RNZ Checkpoint की खबर के अनुसार, लड़की ने भारतीय मूल के व्यक्ति से कहा कि ‘अपने देश वापस चले जाओ, यहां अपनी भाषा में बात मत करो।’ इसी बीच इस घटना की जानकारी किसी यात्री ने ट्रेन की कंडक्टर जेजे फिलिप को दे दी। फिलिप मौके पर पहुंची और घटना के बारे में पता किया। खबर के अनुसार, जब कई बार चेतावनी देने के बाद भी लड़की ने गुस्सा करना बंद नहीं किया। इस पर कंडक्टर ने लड़की को तुरंत ट्रेन से उतर जाने को कह दिया।

जब आरोपी लड़की इसके लिए राजी नहीं हुई तो महिला कंडक्टर ने पुलिस को बुलाने की धमकी दी। इसके बाद लड़की ट्रेन से उतर गई। इस घटना के लिए महिला कंडक्टर की लोग तारीफ कर रहे हैं। यहां तक कि वेलिंग्टन के मेयर जस्टिन लेस्टर ने भी महिला कंडक्टर की तारीफ की है। इतना ही नहीं कंडक्टर को शहर का सिविक सेफ्टी अवार्ड देने की भी घोषणा की गई है।

महिला कंडक्टर जेजे फिलिप का कहना है कि हम न्यूजीलैंड में इस तरह के व्यवहार को अनुमति नहीं दे सकते। बता दें कि बीते मार्च में न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में हुई शूटिंग की घटना ने दुनिया का झकझोर दिया था, जिसमें बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे। उस दौरान भी न्यूजीलैंड के लोग और वहां की सरकार जिस तरह से पीड़ितों के साथ खड़े रहे थे, उसकी भी दुनियाभर में तारीफ हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केन्याः असेंबली में सदस्य के पाद से हाहाकार, रोकनी पड़ गई कार्यवाही
2 प्रतिबंधों के बावजूद हाफिज सईद रच रहा है बड़ी साजिश, छोटे-छोटे आतंकी संगठनों से हाथ मिला हमले की तैयारी!
3 पाकिस्तान की बौखलाहट जारी, पूर्व हाई कमिश्नर ने भारत को दे डाली जंग की धमकी