ताज़ा खबर
 

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: नमाजियों पर बरसाई थीं अंधाधुंध गोलियां, अदालत में खींसे निपोरता रहा हमलावर

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: न्यूजीलैंड के इतिहास में शांतिकाल के दौरान के सबसे बड़े हत्याकांड को अंजाम देने का आरोपी ब्रेंटन हैरिसन टैरेंट अदालत में सुनवाई के दौरान चुपचाप खड़ा रहा और मीडिया गैलरी की तरफ ही देखता रहा।

अदालत में सुनवाई के दौरान हत्याकांड का आरोपी बर्नेंट टैरेंट। (REUTERS)

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: शुक्रवार को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 2 मस्जिदों पर गोलीबारी कर 49 लोगों की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी ब्रेंटन हैरिसन टैरेंट को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी के बाद आरोपी को क्राइस्टचर्च हाईकोर्ट में पेश किया गया। अदालत में पेश किए जाने के दौरान टैरेंट के हाथों में हथकड़ी थी और उसे कैदियों वाले कपड़े पहनाए गए थे। वहीं दो गार्ड उसे घेरकर खड़े थे। हैरानी की बात ये है कि इतने भयावह और खूंखार हमले को अंजाम देने के बावजूद आरोपी के चेहरे पर पश्चाताप या डर का कोई भाव नहीं था और वह अदालत की पूरी सुनवाई के दौरान खींसे निपोरता (बेशर्मी से मंद-मंद मुस्कुराना) दिखाई दिया। इतना ही नहीं आरोपी न्यूजीलैंड हेराल्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार, टैरेंट ने मीडिया के सामने श्वेत लोगों को श्रेष्ठ बताने वाली हाथों से एक विशेष मुद्रा भी बनायी।

न्यूजीलैंड के इतिहास में शांतिकाल के दौरान के सबसे बड़े हत्याकांड को अंजाम देने का आरोपी ब्रेंटन हैरिसन टैरेंट अदालत में सुनवाई के दौरान चुपचाप खड़ा रहा और मीडिया गैलरी की तरफ ही देखता रहा। अदालत अब इस मामले पर आगामी 5 अप्रैल को सुनवाई करेगी, तब तक टैरेंट को पुलिस की हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें कि न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में हुई गोलीबारी के बाद से 9 भारतीय लापता बताए जा रहे हैं। न्यूजीलैंड में मौजूद भारतीय उच्चायोग ने भी इस खबर की पुष्टि की है। वहीं गोलीबारी में 2 भारतीयों की मौत की खबर है और एक घायल है।

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने इस हमले को देश के इतिहास के काले दिनों में से एक करार दिया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने देश में हथियार कानून में बदलाव कर इसे और कड़ा करने के भी संकेत दिए हैं। उल्लेखनीय है कि हत्याकांड के आरोपी टैरेंट के पास ‘A कैटेगरी’ का शस्त्र लाइसेंस था, जिसकी मदद से उसने 5 हथियार खरीदे थे। इनमें से 2 बंदूक सेमी-ऑटोमैटिक, दो शॉटगन और एक लीवर एक्शन हथियार शामिल है। खबर है कि इन्हीं हथियारों से टैरेंट ने जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया। मस्जिदों में हुए इस हमले में बांग्लादेश की टीम भी बाल-बाल बच गई थी। घटना के बाद बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने न्यूजीलैंड का दौरा रद्द कर दिया है और सभी बांग्लादेशी खिलाड़ी अपने देश रवाना हो गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App