ताज़ा खबर
 

51 मुस्लिमों की हत्या से पहले मुबंई, गोवा और जयपुर घूमने आया था ब्रेंटन टैरंट, नमाज पढ़ रहे लोगों पर बरसा दी थीं गोलियां

न्यूजीलैंड के सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा जारी की गयी एक रिपोर्ट में यह पता चला था कि इस नृशंस हमले को अंजाम देने से पहले उसने दुनिया भर के कई देशों की यात्राएँ की थी। इन देशों में चीन, रूस, जापान, दक्षिण कोरिया समेत भारत भी शामिल था। इतना ही नहीं ब्रेंटन टैरेंट पूरा न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया भी घूमा था।

New Zealand , Australia , mosqueन्यूजीलैंड हमले का दोषी ब्रेंटन टैरेंट (फोटो क्रेडिट – एपी)

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 15 मार्च 2019 को मस्जिद में गोलियां चलाकर 51 मुस्लिमों की हत्या करने वाले आतंकवादी की एक रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार आतंकवादी ब्रेंटन टैरेंट ने हमला करने से पहले दुनिया भर की यात्रा की थी। रिपोर्ट के मुताबिक ब्रेंटन 2015-16 में भारत आया था और वह गोवा मुंबई और जयपुर में रुका था। सूत्रों के अनुसार ब्रेंटन ने अपने भारत यात्रा के दौरान अधिकांश समय गोवा में बिताया था।

न्यूजीलैंड के सुरक्षा एजेंसियों से प्राप्त जानकारी के आधार पर भारतीय ख़ुफ़िया विभाग ने इसकी जाँच शुरू कर दी थी। ख़ुफ़िया विभाग के एक वरीय अधिकारी ने कहा कि हमने जब ब्रेंटन के भारत दौरे की जाँच की तो हमें ऐसा कुछ भी नहीं मिला जो संदेह के घेरे में आता हो। साथ ही यह भी नहीं कहा जा सकता है कि न्यूजीलैंड मस्जिद गोलीबारी मामले में उसके भारत यात्रा का भी कुछ प्रभाव रहा हो। ब्रेंटन अपने यात्रा के दौरान सस्ते होटलों में ठहरा था. इसके अलावा उसकी अधिकांश बातचीत अपने साथी यात्रियों या होटल के कर्मचारियों के साथ ही थी। ख़ुफ़िया अधिकारी ने आगे बताया कि जाँच में पता चले तथ्य इस बात की ओर इशारा करते हैं कि भारत में उसकी रूचि सिर्फ यात्रा तक ही सीमित थी।

वहीँ न्यूजीलैंड के सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा जारी की गयी एक रिपोर्ट में यह पता चला था कि इस नृशंस हमले को अंजाम देने से पहले उसने दुनिया भर के कई देशों की यात्राएँ की थी। इन देशों में चीन, रूस, जापान, दक्षिण कोरिया समेत भारत भी शामिल था। इतना ही नहीं ब्रेंटन टैरेंट पूरा न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया भी घूमा था। मार्च 2019 में मस्जिद पर हमला करने से उसने कई मुस्लिम विरोधी और चरम दक्षिणपंथी विचार वाले पोस्ट भी किये थे। इतना ही नहीं ब्रेंटन ने हमले की लाइव स्ट्रीमिंग फेसबुक और इन्स्टाग्राम अकाउंट पर की थी। जिसके बाद सोशल मीडिया पर इस घटना के वीडियो तैरने लगे थे। हालाँकि फेसबुक ने इस वीडियो को तुरंत ही हटा लिया था।

न्यूजीलैंड हमले के दोषी को उम्रकैद की सजा सुना दी गयी है। सजा सुनाने के दौरान जज ने ब्रेंटन को कहा था कि तुम ऐसे लोगों से घृणा करते हो जिसको अपने आप से अलग समझते हो। तुमने सामूहिक हत्या की है। जिसके नुकसान को सहना आसन नहीं है।

 

Next Stories
1 कोरोना के नए स्ट्रेन से जीतना बहुत मुश्किल, ब्रिटेन के शोध में खुलासा- मुसीबत में पड़ सकते हैं दुनियाभर के देश
2 लॉकडाउन का विरोध करने के लिए मेट्रो ट्रेन में एक-दूसरे को किस करने लगे मुसाफिर
3 COVID-19 की सैकड़ों वैक्सीन को जानबूझ कर किया बर्बाद, कई धाराओं में केस दर्ज; पहुंचा जेल
आज का राशिफल
X