ताज़ा खबर
 

VIDEO: मुस्लिमों को बताया न्‍यूजीलैंड हमले का जिम्‍मेदार, ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर के सिर पर फूटा अंडा

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: इस पूरे मामले के बाद सीनेटर के सिर पर अंडा फोड़ने वाले लड़के को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। लेकिन बाद में बिना कोई चार्ज लगाए उसे छोड़ दिया गया।

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: सीनेटर फ्रेजर एनिंग के सिर पर अंडा फोड़ते हुए लड़का।

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर आतंकी हमले के बाद से पूरी दुनिया में इसकी निंदा की जा रही है। न्यूजीलैंड में अन्य समुदायों ने मुस्लिम समुदाय के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए एकजुटता दिखाई है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के एक सीनेटर ने मस्जिदों में शूटिंग की इस घटना के लिए मुस्लिम अप्रवासियों को ही जिम्मेदार ठहरा दिया है। ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर के इस बयान के बाद लोगों ने इस पर कड़ी आपत्ति जतायी है और सीनेटर के बयान की जमकर आलोचना की है। दरअसल ऑस्ट्रेलिया के निर्दलीय सीनेटर फ्रेजर एनिंग ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर लिखा कि “क्या अभी भी किसी को मुस्लिम अप्रवासियों और हिंसा के बीच के संबंध पर विवाद है?”

इस ट्वीट के बाद लोगों ने फ्रेजर एनिंग के प्रति नाराजगी जतायी। शनिवार को फ्रेजर मेलबर्न में टीवी पत्रकारों से बात कर रहे थे, तभी एक 17 साल के लड़के ने फ्रेजर एनिंग के सिर पर अंडा फोड़ दिया। जैसे ही लड़के ने सीनेटर के सिर पर अंडा फोड़ा, सीनेटर एनिंग पलटे और लड़के को थप्पड़ जड़ दिया। इसी बीच जैसे ही हाथापाई शुरु हुई वहां मौजूद लोगों ने बीच-बचाव करा दिया। हालांकि यह पूरी घटना टीवी चैनलों के कैमरों में कैद हो गई और देखते ही देखते सोशल मीडिया पर भी यह वायरल हो गई। बहरहाल इस पूरे मामले के बाद सीनेटर के सिर पर अंडा फोड़ने वाले लड़के को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। लेकिन बाद में बिना कोई चार्ज लगाए उसे छोड़ दिया गया।

इस घटना के बाद लोगों की नाराजगी को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया सरकार और विपक्षी पार्टियां संसद सत्र में सीनेटर फ्रेजर एनिंग के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाने पर सहमत हुई हैं। बता दें कि शुक्रवार को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में एक हमलावर ने दो मस्जिदों पर अंधाधुंध गोलीबारी कर 50 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। माना जा रहा है कि हमलावर इस्लामोफोबिया से ग्रस्त था और अप्रवासियों के खिलाफ नफरत के चलते उसने इस हमले को अंजाम दिया। ऐसी खबरें हैं कि यह एक नस्लीय हमला था, जिसमें हमलावर श्वेत था और श्वेत लोगों को श्रेष्ठ मानता है। इसी श्रेष्ठता की ग्रंथि से ग्रस्त होकर उसने इस हमले को अंजाम दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App