ताज़ा खबर
 

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: न्‍यूजीलैंड की जिस मस्जिद में बहा खून, वहां के इमाम ने कही दिल छू लेने वाली बात

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: घटना को याद करते हुए इब्राहिम अब्दुल हलीम ने बताया कि 'मस्जिद की शांति को गोलियों की आवाज ने भंग किया, जिसके बाद मस्जिद में चीख-पुकार शुरु हो गई और लोग इधर-उधर भागने लगे।

इमाम ने कहा कि वह अभी भी इस देश को प्यार करते हैं। (AP photo)

New Zealand Christchurch Mosque Shooting: न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में शुक्रवार को दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी की घटना से हर कोई स्तब्ध है। इस जघन्य हत्याकांड में 49 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य गंभीर रुप से घायल हो गए। पूरी दुनिया में इस हत्याकांड की निंदा की जा रही है और पीड़ितों के प्रति संवेदना व्यक्त की जा रही है। इसी बीच हमले का शिकार हुई मस्जिद के एक इमाम ने दिल को छू लेने वाली बात कही है। न्यूज एजेंसी एएफपी के अनुसार, क्राइस्टचर्च की लिनवुड मस्जिद के इमाम इब्राहिम अब्दुल हलीम का कहना है कि ‘इस हमले के बाद भी मुस्लिम समुदाय का न्यूजीलैंड के प्रति प्यार कम नहीं होगा।’ अब्दुल हलीम ने कहा कि ‘हम अब भी इस देश को प्यार करते हैं और दक्षिणपंथी कभी भी उनके आत्मविश्वास को नहीं हिला पाएंगे।’

शुक्रवार को क्राइस्टचर्च की अल नूर मस्जिद और लिनवुड मस्जिद में हुई गोलीबारी की घटना को याद करते हुए इब्राहिम अब्दुल हलीम ने बताया कि ‘मस्जिद की शांति को गोलियों की आवाज ने भंग किया, जिसके बाद मस्जिद में चीख-पुकार शुरु हो गई और लोग इधर-उधर भागने लगे। चारों तरफ खून दिखाई दे रहा था और लोग फर्श पर लेटे हुए थे।’ इमाम ने कहा कि ‘इस घटना के बावजूद मुस्लिम समुदाय के लोग न्यूजीलैंड को अपना घर मानते हैं। मेरे बच्चे यहां रहते हैं और हम यहां बहुत खुश हैं।’ इमाम इब्राहिम अब्दुल हलीम के अनुसार, न्यूजीलैंड के अधिकतर लोग काफी उदार हैं और इस मुश्किल घड़ी में हमारे प्रति एकजुटता दिखा रहे हैं और हमारा समर्थन कर रहे हैं। इमाम ने बताया कि किस तरह से हत्याकांड के बाद लोग उन्हें गले लगाकर सांत्वना दे रहे थे। अब्दुल हलीम के अनुसार, यह काफी अहम है।

बता दें कि शुक्रवार को क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर एक हमलावर ने गोलीबारी कर दी थी। मस्जिदों में लोग नमाज पढ़ने के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान हमलावर ने लोगों की भीड़ पर फायरिंग कर दी। इस हमले में 49 लोग मारे गए हैं। वहीं कई लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने हमले के मुख्य आरोपी समेत कुछ अन्य संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी की पहचान बर्नेंट हैरिसन टैरेंट के रुप में हुई है, जो कि ऑस्ट्रेलिया का मूल निवासी है। आरोपी को अदालत में पेश किया गया, इस दौरान भी वह मुस्कुराता दिखाई दिया था और उसके चेहरे पर इस जघन्य हत्याकांड के लिए कोई पश्चाताप या डर दिखाई नहीं दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App