ताज़ा खबर
 

पाक‍िस्‍तान: नई सरकार ने मोदी सरकार के बारे में फैलाया झूठ, फ‍िर पलटी

मोदी सरकार के सूत्रों ने कहा कि एक लेटर भेजा गया है, लेकिन वह इमरान खान को पीएम बनने की बधाई देने के लिए भेजा गया है, उसमें बातचीत करने जैसी कोई बात नहीं है।

इमरान खान और पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स- AP/एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पाकिस्तान की नई सरकार अपने उस दावे से पलट गई है जिसमें यह कहा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इमरान खान को पीएम बनने पर लेटर लिखकर बधाई दी और दोनों देशों के बीच बातचीत का प्रस्ताव भी रखा। दरअसल, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पीएम मोदी के लेटर पर बात करते हुए कहा था कि मोदी ने बातचीत करने का प्रस्ताव पेश किया है। उन्होंने मीडिया से कहा था, ‘मुझे विदेश सचिव द्वारा यह जानकारी दी गई है कि भारतीय पीएम ने एक लेटर भेजा है जिसमें उन्होंने इमरान खान को पीएम बनने पर बधाई दी है और साथ ही बातचीत के लिए एक संदेश भी भेजा है, यह बहुत ही सकारात्मक है।’

पाकिस्तान के विदेश मंत्री की तरफ से आए इस बयान के बाद भारत सरकार के आधिकारिक सूत्रों द्वारा पीएम के लेटर में बातचीत का प्रस्ताव रखने की बात को खारिज कर दिया गया था। मोदी सरकार के सूत्रों ने कहा कि एक लेटर भेजा गया था, लेकिन वह इमरान खान को पीएम बनने की बधाई देने के लिए भेजा गया था, उसमें बातचीत करने जैसी बात नहीं थी। भारत सरकार द्वारा जताए गए इस विरोध के बाद अब पाकिस्तान की तरफ से स्पष्टीकरण पेश किया गया है।

एनडीटीवी के मुताबिक पाकिस्तान की तरफ से यह कहा गया है कि उनके विदेश मंत्री ने यह नहीं कहा था कि पीएम मोदी ने बातचीत के लिए प्रस्ताव पेश किया है। इस्लामाबाद की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया कि ‘भारतीय मीडिया द्वारा अनावश्यक रूप से विवाद पैदा किया जा रहा है’ और मिस्टर कुरैशी ने यह कहा था कि ‘भारतीय प्रधानमंत्री ने इमरान खान को लिखे गए खत में वही लिखा है जो विदेश मंत्री द्वारा पहले भी कहा जा चुका है कि आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता रचनात्मक और सार्थक वचनबद्धता है।’ पाकिस्तान के द्वारा जारी किए गए बयान में यह भी कहा गया है कि वह सभी मुद्दों के समाधान के लिए और दोनों देशों के फायदे के लिए भारत के साथ बिना रुकावट बातचीत के लिए आशांवित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App