ताज़ा खबर
 

नेपाल के सत्‍यवती वन में खराब मौसम के बीच चॉपर दुर्घटनाग्रस्‍त, 7 यात्री थे सवार

एएनआई ने नेपाल नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के हवाले से कहा है कि गायब हुआ हेलीकॉप्टर सत्यवती के घने जंगलों के बीच पाया गया है। हेलीकॉप्टर जिस जगह क्रैश हुआ है, वह समुद्रतल से 5,500 फीट की ऊंचाई पर है।

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

एल्टीट्यूड एयर एयरलाइन का एक घरेलू हेलीकॉप्टर मध्य नेपाल में शनिवार को लापता हो गया। अधिकारियों ने कहा कि हेलीकॉप्टर में सात लोग सवार हैं। द काठमांडू पोस्ट की खबर के मुताबिक, हेलीकॉप्टर गोरखा जिले के समागॉन से काठमांडू के मार्ग पर था, जहां सुबह 8:05 पर उसका हवाई यातायात नियंत्रण टावर से संपर्क टूट गया। उसे नुवाकोट और धाडिंग जिले की सीमा पर आखिरी बार देखा गया था।

एल्टीट्यूड एयर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक निमा नुरु शेरपा ने कहा कि हेलीकॉप्टर में एक जापानी पर्यटक और पांच नेपाली नागरिक समेत छह यात्री सवार हैं। इस हेलीकॉप्टर के पायलट वरिष्ठ कैप्टन निश्छल के सी थे। शेरपा ने कहा, ‘‘बचावकर्मी घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं।’’ उन्होंने यह भी बताया कि दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर में आग नहीं लगी है। उन्होंने कहा कि खराब मौसम और दुर्गम इलाके की वजह से बचाव कार्य में मुश्किलें आ रही हैं। नेपाली सेना का एक हेलीकॉप्टर और एक निजी हेलीकॉप्टर को दुर्घटनास्थल पर राहत कार्य के लिये भेजा गया है।”

समाचार एजेंसी एएनआई ने नेपाल नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के हवाले से कहा है, ”गायब हुआ हेलीकॉप्टर सत्यवती के घने जंगलों के बीच पाया गया है। हेलीकॉप्टर जिस जगह क्रैश हुआ है, वह समुद्रतल से 5,500 फीट की ऊंचाई पर है। वहां पर राहत और बचाव के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन खराब मौसम आॅपरेशन में बाधा बन रहा है।”

त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के महाप्रबंधक राजकुमार छेत्री ने कहा कि हेलीकॉप्टर को राजधानी में सुबह 8:18 पर उतरना था। त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के महाप्रबंधक राजकुमार छेत्री ने कहा कि हेलीकॉप्टर को राजधानी में सुबह 8:18 पर उतरना था। हेलीकॉप्टर गोरखा के समागांव से एक मरीज और अन्य यात्रियों को लेकर काठमांडो के लिये उड़ा था। करीब 20 मील की उड़ान के बाद सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर काठमांडो टावर से उसका संपर्क टूट गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App