ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान: करप्शन केस में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 10 साल जेल, बेटी मरियम को भी सजा

पाकिस्तान की अदालत ने नवाज शरीफ पर 80 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया है, जबकि मरियम शरीफ पर 20 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया गया है।

Nawaz Sharif, Maryam Sharif, Pakistan, former Pakistan Nawaz Sharif sentenced 10 years and his daughter Maryam sentenced to 7 years imprisonment in Avenfield Reference, PML N, hindi news, Pakistan news, News in Hindi, World news in Hindi, Jansattaपाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम शरीफ।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को करप्शन के एक केस में 10 साल जेल की सजा सुनाई गई है। उनकी बेटी मरियम शरीफ को अदालत ने 7 साल जेल की सजा सुनाई। नवाज शरीफ के दामाद कैप्टन सफदर को भी एक साल की सजा सुनाई गई है। पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत ने नवाज शरीफ पर 80 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया है, जबकि मरियम शरीफ पर 20 लाख पाउंड का जुर्माना लगाया गया है। ये मामला एवियन फील्ड करप्शन केस से जुड़ा हुआ है। दरअसल लंदन के वीवीआईपी इलाके एवियन फील्ड इलाके में पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के फ्लैट हैं। आरोप है कि शरीफ परिवार ने इन फ्लैट्स को अवैध ढंग से हासिल किया था। अदालत के इस फैसले के बाद इस्लामाबाद में तनाव का माहौल है। पाकिस्तानी अखबार द डॉन के मुताबिक शहर में धारा-144 लगा दी गई है। इलाके में कैपिटल फोर्स और रेंजर्स के जवानों की तैनाती की गई है। बता दें कि इस वक्त नवाज शरीफ और उनकी बेटी इस समय लंदन में ही हैं। नवाज शरीफ की पत्नी कुसलुम नवाज इस वक्त लंदन में ही भर्ती हैं। उनका वहां इलाज चल रहा है। नवाज शरीफ और मरियम ने अदालत ने दरख्वास्त की थी कि कुसलुम नवाज की खराब सेहत को देखते हुए अगले 48 घंटे तक उनका लंदन में रहना जरूरी है।

बता दें पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं। इस चुनाव के जरिये वहां की जनता देश का अगला प्रधानमंत्री चुनेगी। जवाबदेही अदालत के इस फैसले के बाद नवाज शरीफ परिवार के राजनीतिक भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लग गया है। बता दें कि नवाज शरीफ और उनके तीन बच्चों के खिलाफ पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत में करप्शन के मामले चल रहे हैं। इससे पहले पनामा पेपर मामले में कोर्ट के फैसले के बाद नवाज शरीफ पीएम पद के लिए अयोग्य हो गये थे। पनामा पेपर मामले में पिछले साल सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला दिये जाने के बाद नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो इस मामले को जवाबदेही अदालत में ले गया था। मामले की सुनवाई कर रही अदालत ने 3 जुलाई को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और कहा था कि छह जुलाई को फैसला सुनाया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत के लिए बड़ा झटका- मलेशियाई पीएम ने कहा, जाकिर नाईक को नहीं भेजेंगे हिन्दुस्तान
2 एयर इंडिया ने ताइवान का नाम बदल चीनी ताइपे किया, चीन ने किया स्‍वागत
3 काट ले रहे प्राइवेट पार्ट, खा रहे इंसानी मांस! जंग के मैदान से हुए दिल दहलाने वाले खुलासे