ताज़ा खबर
 

बकरीद पर पाक PM शरीफ का भड़काऊ बयान, कहा- कश्मीरियों के बलिदान को नहीं करेंगे नजरअंदाज

भारत को एक बार फिर से भड़काते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज ईद-उल अजहा को कश्मीरियों के ‘‘सर्वोच्च बलिदानों’’ के प्रति समर्पित कर दिया और कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा सुलझ नहीं जाता, तब तक पाकिस्तान ऐसा करना जारी रखेगा।

Author लाहौर | September 13, 2016 1:28 PM
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ

भारत को एक बार फिर से भड़काते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज ईद-उल अजहा को कश्मीरियों के ‘‘सर्वोच्च बलिदानों’’ के प्रति समर्पित कर दिया और कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा सुलझ नहीं जाता, तब तक पाकिस्तान ऐसा करना जारी रखेगा। शरीफ ने ईद-उल अजहा के मौके पर भेजे अपने संदेश में कहा, ‘‘हम कश्मीरियों के बलिदानों को नजरअंदाज नहीं कर सकते। उन्हें उनके बलिदानों का फल मिलेगा। हम इस ईद को कश्मीरी जनता के सर्वोच्च बलिदानों के प्रति समर्पित करते हैं और जब तक कश्मीर का मुद्दा (कश्मीरी जनता) की इच्छाओं के अनुरूप हल नहीं होता, तब तक हम ऐसा करना जारी रखेंगे।’’

शरीफ ने अपने रायविंड स्थित आवास पर अपने परिवार के सदस्यों के साथ मस्जिद में ईद की नमाज अदा की। उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीरी जनता ने भारत से आजादी पाने के अपने संघर्ष में अपनी तीसरी पीढ़ी का बलिदान दे दिया है।’ उन्होंने कहा, ‘‘वे आत्मनिर्णय के अपने अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे हैं और भारतीय अत्याचारों का सामना कर रहे हैं। ताकत का इस्तेमाल करके उनकी आवाज को दबाया नहीं जा सकता।’’

पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा कि पाकिस्तान को ‘‘आतंकवाद से प्रभावित हमारे कश्मीरी भाइयों और बहनों को’’ याद रखना चाहिए।
उन्होंने कहा, ‘‘जरूरत के इस समय पर हमें कश्मीरी जनता का समर्थन करना चाहिए। अपना आत्मनिर्णय का अधिकार पाने के लिए वे अब तक के सबसे भीषण अत्याचारों का सामना कर रहे हैं। वह दिन दूर नहीं है जब कश्मीरी जनता को अपने सर्वोच्च संघर्ष का लाभ मिलेगा। जल्दी ही वे स्वतंत्र जमीन पर इन त्योहारों का जश्न मनाएंगे।’

इसी बीच, जमात-उद-दावा के प्रमुख और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने गद्दाफी स्टेडियम में ईद की नमाज के लिए जुटे लोगों का नेतृत्व किया और ‘‘भारतीय बलों के खिलाफ लड़ रहे कश्मीरियों की सफलता’’ की दुआ मांगी। हाफिज सईद ने नवाज सरकार से कश्मीर पर कड़ा रूख अपनाने और ‘‘आजादी हासिल करने में उनकी मदद करने’’ की अपील की। बीती आठ जुलाई को हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में उपजे तनाव के मद्देनजर भारत और पाकिस्तान के बीच आतंकवाद और कश्मीर की स्थिति को लेकर तीखा वाक्युद्ध चल रहा है।

भारत ने पाकिस्तान पर सीमा पार से आतंकवाद को समर्थन देने का आरोप लगाया है, वहीं पाकिस्तान भारत पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कश्मीर के मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश करता रहा है। शरीफ ने पहले भारतीय बलों के ‘अत्याचारों’ की जांच, कश्मीरियों के मौलिक अधिकारों की सुरक्षा, वानी की मौत की निष्पक्ष जांच और संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के क्रियांवयन का आह्वान किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App