scorecardresearch

NASA Artemis 1 Launch: NASA का आर्टेमिस मिशन 1, तीन डमी परीक्षणों के बाद मून रॉकेट लॉन्च

Nasa (नासा) Moon Mission Today, NASA Artemis 1 (आर्टेमिस 1) Launch : नासा 50 साल बाद अपने मून मिशन आर्टेमिस-1 की मदद से इंसानों को चांद पर एक बार फिर भेजने की तैयारी कर रहा है। यह एक मानवरहित मिशन होगा

NASA Artemis 1 Launch: NASA का आर्टेमिस मिशन 1, तीन डमी परीक्षणों के बाद मून रॉकेट लॉन्च
नासा आर्टेमिस -1 आज लॉन्च: (Image credit: NASA/Cory Huston)

NASA Artemis 1 (नासा आर्टेमिस 1) Moon Mission Launch : नासा (NASA) चंद्रमा (Moon) पर आर्टेमिस 1 मिशन (Artemis 1 Mission) का काउंटडाउन शुरू होने से पहले इसे 10 मिनट के होल्ड पर कर दिया गया था। अब से ही देर में मिशन के एसएलएस रॉकेट (SLS Rocket) और ओरियन अंतरिक्ष यान (Orion spacecraft) को फ्लोरिडा में कैनेडी स्पेस सेंटर में लॉन्चपैड 39 बी से लॉन्च किया जाएगा। ये तीसरा मौका है जब नासा ने चांद पर आर्टेमिस 1 मिशन को लॉन्च करने को हरी झंडी दी है। पहले यह मिशन 14 नवंबर को लॉन्च किया जाना था, लेकिन अब 16 नवंबर के लिए निर्धारित कर दिया गया है।

नासा 50 साल बाद अपने मून मिशन आर्टेमिस-1 की मदद से इंसानों को चांद पर एक बार फिर भेजने की तैयारी कर रहा है। यह एक मानवरहित मिशन होगा, जिसमें नासा के मेगारॉकेट के जरिए ओरियन क्रू कैप्सूल को चांद तक भेजा जाएगा। आप लॉन्च को नासा की वेबसाइट, आधिकारिक ऐप या नीचे दिए गए  यूट्यूब लिंक के माध्यम से देख सकते हैं।

एसेंजी के मुताबिक, नासा अब चांद पर एक स्थाई बेस बनाना चाहती है, ताकि अंतरिक्ष यात्री लंबे समय तक वहां रुक सकें।

Live Updates

Artemis 1 Moon Mission: (नासा आर्टेमिस 1) मिशन के एसएलएस रॉकेट (SLS Rocket) और ओरियन अंतरिक्ष यान (Orion spacecraft) को फ्लोरिडा में कैनेडी स्पेस सेंटर में लॉन्चपैड 39 बी से लॉन्च किया जाएगा।

13:03 (IST) 16 Nov 2022
रॉकेट में हाइड्रोजन लीकेज की आई थी समस्या

सुबह के समय रॉकेट में हाइड्रोजन लीकेज की समस्या सामने आई थी, लेकिन वैज्ञानिकों ने उसे भी समय रहते ठीक कर दिया। तूफान के बाद ढीले हुए पार्ट्स को भी अब फिक्स कर दिया गया है।

13:01 (IST) 16 Nov 2022
स्पेसक्राफ्ट के पार्ट ढीले होकर निकल गए थे जिसकी वजह से हुई देरी

एजेंसी ने बताया था कि आर्टेमिस मिशन 1 की लॉन्चिंग के समय तूफान आ गया था जिसकी वजह से स्पेसक्राफ्ट का एक पार्ट ढीला होकर निकल गया था। उसे ठीक करने में थोड़ा ज्यादा समय जिसके बाद ये लॉन्चिंग हुई।

12:59 (IST) 16 Nov 2022
देरी से लॉन्च हुआ आर्टेमिस मिशन 1 एजेंसी ने बताई वजह

आर्टेमिस मिशन 1 की लॉन्चिंग में थोड़ी देरी हुई एजेंसी ने बताया कि तूफान की वजह से आर्टेमिस मिशन 1 की लॉन्चिंग में ये देरी हुई थी।

12:58 (IST) 16 Nov 2022
42 दिनों की चंद्रमा यात्रा पर गया स्पेसशिप

आर्टेमिस मिशन 1 का यह स्पेसशिप 42 दिनों के लिए चंद्रमा पर भेजा गया है। इसके बाद ये स्पेसशिप 42 दिनों तक चंद्रमा की यात्रा करके वापस आ जाएगा।

12:47 (IST) 16 Nov 2022
नासा को इस मिशन में दो बार असफलता के बाद मिली सफलता

नासा ने अपने तीसरे प्रयास में ये सफलता हासिल की है। इसके पहले दो बार नासा इस मिशन में असफल हो चुका था। इस रॉकेट के जरिए चंद्रमा पर ओरियन स्पेसशिप भेज रहा है।

12:45 (IST) 16 Nov 2022
मंगल मिशन के बाद नासा के लिए अर्टेमिस-1 मिशन सबसे जरूरी मिशन

इसके पहले नासा ने सफलता पूर्वक मंगल मिशन पूरा किया था। मंगल मिशन के बाद नासा के लिए अर्टेमिस-1 (Artemis-1) मिशन सबसे जरूरी मिशन हो गया था।

12:43 (IST) 16 Nov 2022
नासा ने 50 साल बाद सफलता पूर्वक मिशन पूरा किया

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने 50 सालों के बाद चंद्रमा पर अपना मिशन सफलतापूर्वक पूरा किया और तीन डमी परीक्षणों के बाद मून रॉकेट लॉन्च कर दिया है

12:41 (IST) 16 Nov 2022
तीन डमी परीक्षणों के बाद मून रॉकेट लॉन्च

NASA का आर्टेमिस मिशन 1 तीन डमी परीक्षणों के बाद मून रॉकेट लॉन्च

11:36 (IST) 16 Nov 2022
10 मिनट का काउंट डाउन शुरू

हम टी-10 मिनट पर काउंटडाउन होल्ड बढ़ा रहे हैं जबकि लॉन्च टीम का अनुमान है कि कितना काम करने की जरूरत है।

11:06 (IST) 16 Nov 2022
Artemis 1 Mission: चंद्रमा पर आर्टेमिस I के लॉन्चिंग का काउंटडाउन शुरू

Artemis 1 Mission: चंद्रमा पर आर्टेमिस I के लॉन्चिंग से पहले वायलन बजा कर फिलाडेल्फिया ऑर्केस्ट्रा ने एक खूबसूरत गाने के साथ शुरुआत की। इसके साथ ही चंद्रमा पर आर्टेमिस I के लॉन्चिंग का काउंटडाउन शुरू हो गया है।

Artemis 1 Moon Mission: आर्टेमिस 1 मिशन इसके पहले दो बार रद्द हो चुका था ये तीसरा मौका है जब आर्टेमिस 1 मिशन को एक बार फिर से शुरू किया जा रहा है। पहली लॉन्चिंग के दौरान एसएलएस रॉकेट के RS-25 इंजन में खराबी आ गई थी, जिस वजह से उसको स्थगित करना पड़ा। वहीं दूसरी असफलता तब हाथ लगी थी जब रॉकेट और लिक्विड हाईड्रोजन ईंधन फीड लाइन के बीच क्विक डिस्कनेक्ट इंटरफेस में हाइड्रोजन रिसाव के कारण मिशन को रोकना पड़ गया था।

इस मिशन के तहत SLS रॉकेट के ऊपर ओरियन स्पेसक्राफ्ट को लॉन्च किया जाएगा। इस मिशन को लॉन्च करने के पीछे नासा का मकसद है कि भविष्य में लॉन्च होने वाले आर्टेमिस मिशनों के लिए चांद पर एक आधार तैयार किया जाए।