ताज़ा खबर
 

NASA ने कैमरे में कैद की चंद्रमा के अद्भुत नजारे की तस्वीरें

धरती से हमेशा चमकते दिखाई देने वाले चांद के पार का नजारा नासा ने तस्वीरों के जरिए जारी किया है। धरती से चांद का हमेशा एक ही भाग दिखाई देता है, लेकिन नासा की डिस्कवर सैटेलाइट ने चांद के अंधेरे भाग की तस्वीरें ली हैं। सैटेलाइट ने पृथ्वी से करीब 10 लाख मील की ऊंचाई पर जाकर ये दुर्लभ तस्वीरें खींची।

Author August 8, 2015 9:58 AM
NASA ने कैमरे में कैद की चंद्रमा के अद्भुत नजारे की तस्वीरें

धरती से हमेशा चमकते दिखाई देने वाले चांद के पार का नजारा नासा ने तस्वीरों के जरिए जारी किया है। धरती से चांद का हमेशा एक ही भाग दिखाई देता है, लेकिन नासा की डिस्कवर सैटेलाइट ने चांद के अंधेरे भाग की तस्वीरें ली हैं। सैटेलाइट ने पृथ्वी से करीब 10 लाख मील की ऊंचाई पर जाकर ये दुर्लभ तस्वीरें खींची।

तस्वीरों में सूरज की रोशनी में चमकती पृथ्वी के ऊपर से चांद को गुजरते हुए दिखाया गया है। यह चांद का पृष्ठ भाग है जो हमें धरती से कभी दिखाई नहीं देता। नासा के अनुसार, सैटेलाइट ने गत 16 जुलाई को अर्थ पॉलीक्रोमेटिक इमेजिंग कैमरा (इपिक) की मदद से ये तस्वीरें ली। कैमरे ने चमक के साथ तेजी से घूमती धरती की मनमोहक तस्वीरें ली है। ओजोन परत, धूल ऊंचाई और पानी के कणों के बीच से भी इस कैमरे ने 10 लाख मील की ऊंचाई से धरती की स्पष्ट तस्वीरें ली।

नासा ने बताया कि अगले माह से इपिक धरती का नियमित रूप से परीक्षण करेगा और उसमें आने वाले बदलावों की लगातार तस्वीरें जारी करेगा। करीब दो साल बाद डिस्कवर के अपनी कक्षा में गुजरते समय चांद और पृथ्वी की एकसाथ तस्वीरें मिली हैं।
16 जुलाई को चांद के पैसिफिक सागर व उत्तरी अमेरिका से गुजरते समय इपिक ने उसकी तस्वीरें खींची। तस्वीर के ऊपरी बाएं हिस्से पर उत्तरी ध्रुव दिख रहा है। चांद का यह हिस्सा 1959 के बाद अब दिखा है। उस समय सोवियत लूना 3 स्पेसक्राफ्ट ने पहली तस्वीरें भेजी थीं। इसके बाद से नासा ने कई बार यह तस्वीरें लेनी चाही।

धतरी से चांद का हमेशा एक ही हिस्सा दिखाई देता है क्योंकि अपनी धुरी पर घूमते हुए भी चांद का कोण नहीं बदलता और उसका दूसरा भाग धरती की ओर नहीं आ पाता। इपिक द्वारा ली गई तस्वीरों में धरती का प्राकृतिक रंग दिख रहा है।

कैमरे ने 30 सेकेंड के भीतर तीन तस्वीरें ली, इसमें चांद का पिछला भाग बड़ा, सपाट और ऊबड़-खाबड़ दिख रहा है, जो धरती की सतह से काफी मिलता-जुलता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App