ताज़ा खबर
 

व्हाइट हाउस के रात्रिभोज में नरेंद्र मोदी ने लिया सिर्फ गुनगुना पानी

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस के इतिहास में यह एक विरला मौका था जब उसके एक बेहद खास मेहमान ने भोज के दौरान लजीज पकवान नहीं, बल्कि सिर्फ गुनगुना पानी पीया । यह भोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए था, लेकिन उपवास होने के कारण उन्होंने अन्न ग्रहण नहीं किया। वैसे व्हाइट हाउस में आयोजित रात्रिभोज के […]

Author Published on: September 30, 2014 5:15 PM

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस के इतिहास में यह एक विरला मौका था जब उसके एक बेहद खास मेहमान ने भोज के दौरान लजीज पकवान नहीं, बल्कि सिर्फ गुनगुना पानी पीया । यह भोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए था, लेकिन उपवास होने के कारण उन्होंने अन्न ग्रहण नहीं किया।

वैसे व्हाइट हाउस में आयोजित रात्रिभोज के मेन्यू में अनेक प्रकार के लजिज व्यंजन शामिल किए गये थे।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरूद्दीन ने बताया कि हालांकि प्रोटोकॉल के तहत प्रधानमंत्री के समक्ष एक प्लेट रखी गई थी लेकिन उन्होंने सिर्फ गुनगुना पानी ही पीया और शेष अतिथियों से कहा कि वे असहज महसूस नही करें तथा सहजता से अपना भोजन करें। विभिन्न प्रकार के व्यंजन में केसर बासमती चावल से लेकर आम का बना खास व्यंजन :मैंगो क्रीम बू्रली: परोसा गया था।

रात्रि भोज में दोनों ओर से सीमित मेहमान ही मौजूद थे।

इस अवसर पर अमेरिका की ओर से मौजूद नौ मेहमानों में उप राष्ट्रपति जो बाइडेन, उप विदेश मंत्री विलियम बर्न्स, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसन राइस, यूएसएआईडी के राजीव शाह शामिल थे। वहीं भारत की ओर से मौजूद प्रतिनिधिमंडल में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, अमेरिका में भारत के राजदूत एस जयशंकर और विदेश सचिव सुजाता सिंह सहित अन्य अतिथि थे।

प्रधानमंत्री पिछले 40 सालों से नवरात्रि के अवसर पर व्रत करते रहे हैं और इस साल नवरात्रि तथा उनकी पांच दिवसीय अमेरिका यात्रा की तारीखें साथ साथ पड़ीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लापता उड़ान MH 370 की खोज फिर होगी शुरू
2 विवादित मतदान के बाद अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति अशरफ गनी  ने संभाली सत्ता 
3 रणनीतिक भागीदारी बढ़ाने के उपायों पर चर्चा करेंगे नरेंद्र मोदी: ओबामा
ये पढ़ा क्या...
X