ताज़ा खबर
 

मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में म्यांमार की प्रतिभागी ने लहराया पोस्टर, कहा- हमारे लोग मर रहे, उनके लिए करें दुआ

म्यांमार की मिस यूनिवर्स प्रतियोगी, थूज़र विंट ल्विन ने रविवार को मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के मंच का इस्तेमाल करते हुए दुनिया से उनके देश में सैन्य शासन के खिलाफ बोलने का आग्रह किया।

म्यांमार की प्रतियोगी ने अपने देश में सैन्य शासन के खिलाफ आवाज उठाई। (Reuters)।

म्यांमार की मिस यूनिवर्स प्रतियोगी, थूज़र विंट ल्विन ने रविवार को मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के मंच का इस्तेमाल करते हुए दुनिया से उनके देश में सैन्य शासन के खिलाफ बोलने का आग्रह किया। मालूम हो कि म्यांमार की सेना ने इस साल 1 फरवरी को देश में तख्तापलट कर सत्ता पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद से सेना ने सैकड़ों विरोधियों को मार डाला है।

अमेरिका के फ्लोरिडा के सेमिनोल हार्ड रॉक होटल एंड कैसीनो से प्रतियोगिता के लिए एक जारी एक वीडियो संदेश में थूज़र विंट ल्विन ने कहा ,”हमारे लोग मर रहे हैं और हर दिन सेना द्वारा गोली मार दी जा रही है।” उन्होंने कहा, “मैं सभी से म्यांमार के बारे में बोलने का आग्रह करना चाहूंगी। तख्तापलट के बाद से मिस यूनिवर्स म्यांमार के रूप में, मैं जितना कर सकती हूं, बोल रही हूं।” म्यांमार सेना प्रवक्ता ने टिप्पणी मांगने वाले कॉल का जवाब नहीं दिया। थूजर विंट ल्विन म्यांमार की उन दर्जनों हस्तियों, अभिनेताओं, सोशल मीडिया स्टार और खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिन्होंने तख्तापलट का विरोध किया है। जिसमें लोगों द्वारा चुनी नेता आंग सान सू की को हटा दिया गया है और हिरासत में रखा गया है।

असिस्टेंस एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स एक्टिविस्ट ग्रुप के अनुसार, तख्तापलट के बाद से सुरक्षा बलों द्वारा कम से कम 790 लोग मारे गए हैं। इसमें कहा गया है कि 5,000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से कुछ 4,000 अभी भी हिरासत में हैं। जिनमें कई हस्तियां भी शामिल हैं।

थूज़र विंट ल्विन मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के अंतिम दौर में जगह नहीं बना सकीं, लेकिन उन्होंने सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय पोशाक का पुरस्कार जीता, जो उत्तर-पश्चिमी म्यांमार के उनके चिन लोगों की जातीय पोशाक पर आधारित थी, जहाँ हाल के दिनों में सेना और सत्ता विरोधी लड़ाकों के बीच लड़ाई छिड़ गई है।

जैसे ही प्रतियोगी ने अपनी राष्ट्रीय पोशाक के साथ परेड की, उन्होंने एक तख्ती पकड़ रखी थी, जिस पर लिखा था, “म्यांमार के लिए प्रार्थना करें”। थूजर ने सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय पोशाक का पुरस्कार भी जीता।

एक इंस्टाग्राम पोस्ट में, उन्होंने बताया कि यह पोशाक आमतौर पर पारंपरिक समारोहों में चिन महिलाओं द्वारा पहनी जाती थी। उन्होंने कहा, “इस पोशाक में, हम म्यांमार की महिलाओं के नाजुक बुनाई कौशल और एक सराहनीय और साहसी म्यांमार महिला की छवि की पहचान कर सकते हैं।”

Next Stories
1 इस देश के 60 फ़ीसदी से ज़्यादा लोग ले चुके हैं टीका, फिर भी बढ़ रहा कोरोना संक्रमण; मौजूदा मरीज़ों में से एक-तिहाई लगवा चुके हैं वैक्सीन
2 केयर्न एनर्जी ने एयर इंडिया पर ठोका मुकदमा, सरकार ने नहीं दिए 1.2 अरब डॉलर तो गंवाने पड़ सकते हैं विमान
3 कोरोनाः UK में अब चार हफ्ते पहले दी जा सकती है टीके की दूसरी खुराक, भारतीय वैरियंट से बढ़ी चिंता
ये  पढ़ा क्या?
X