ताज़ा खबर
 

दक्षिण अफ्रीका दौरा एक तीर्थयात्रा की तरह है: नरेंद्र मोदी

दक्षिण अफ्रीका के पीटरमारित्जबर्ग रेलवे स्टेशन पर ही महात्मा गांधी को ट्रेन से बाहर धकेल दिया गया था।

Author पीटरमारित्जबर्ग (दक्षिण अफ्रीका) | July 9, 2016 9:07 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (9 जुलाई) को पेंट्रिक से पीटरमारित्जबर्ग रेलवे स्टेशन तक ट्रेन से सफर किया। (पीटीआई फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (9 जुलाई) को कहा कि उनकी दक्षिण अफ्रीका की यात्रा एक तीर्थयात्रा के समान है, क्योंकि इस दौरान वे उन स्थलों पर गए, जो भारतीय इतिहास व महात्मा गांधी के जीवन से जुड़े हैं। रेलगाड़ी की यात्रा करने के बाद पीटरमारित्जबर्ग रेलवे स्टेशन पर मोदी ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह दौरा एक तीर्थयात्रा के समान है, क्योंकि मैंने उन स्थलों का दौरा किया जो भारतीय इतिहास व महात्मा गांधी के जीवन के लिहाज से महत्वपूर्ण हैं।’

इससे पहले इतिहास के पन्नों में झांकने की कोशिश करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां उस स्टेशन पर गए जहां महात्मा गांधी को ट्रेन से बाहर धकेल दिया गया था और यही उनके जीवन में एक मील का पत्थर साबित हुआ था। मोदी ने दक्षिण अफ्रीका में गांधी की ट्रेन यात्रा को याद करने का प्रयास किया। दक्षिण अफ्रीका की अपनी यात्रा के दूसरे दिन मोदी नस्लीय भेदभाव के खिलाफ महात्मा गांधी के संघर्ष को श्रद्धांजलि देने के लिए पेंट्रिक में एक ट्रेन पर सवार होकर पीटरमारित्जबर्ग गए।

HOT DEALS
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 15590 MRP ₹ 17990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 15390 MRP ₹ 17990 -14%
    ₹0 Cashback

Read Also: Modi in Durban: गांधी की याद में पीएम ने की ट्रेन की यात्रा, कहा-साउथ अफ्रीका ने मोहनदास को बनाया महात्‍मा

वर्ष 1893 में सात जून को जब गांधीजी डरबन से प्रीटोरिया जा रहे थे जब एक श्वेत ने प्रथम श्रेणी के डिब्बे में उनके चढ़ने पर आपत्ति की और उन्हें तीसरी श्रेणी के डिब्बे में जाने को कहा गया। गांधी के पास प्रथम श्रेणी का वैध टिकट था और उन्होंने तीसरी श्रेणी के डिब्बे में जाने से इनकार कर दिया। उसके बाद भयंकर सर्दी में पीटरमारित्ज स्टेशन पर उन्हें ट्रेन से बाहर धकेल दिया गया। वह रातभर भयंकर ठंड में स्टेशन पर रुके रहे। इस कटु घटना ने दक्षिण अफ्रीका में ठहरकर वहां भारतीयों के खिलाफ नस्लीय भेदभाव के विरुद्ध संघर्ष करने के गांधी के निर्णय में अहम भूमिका निभायी।

मोदी की यात्रा का वीडियो देखने के लिए क्‍ल‍िक करें

Read Also: द.अफ्रीकाः भारतीयों के बीच बोले मोदी, यहीं गांधी जी को ट्रेन से फेका था और यहीं नया जन्म दिया

प्रधानमंत्री उस जगह गए जहां गांधीजी को उतार दिया गया था। मोदी फोनिक्स बस्ती भी जाएंगे जिसका गांधी से नजदीकी संबंध रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री ने पेंट्रिक रेलवे स्टेशन से पीटरमारित्जबर्ग तक की यात्रा की। गांधीजी ने जिस ट्रेन में यात्रा की थी, उसी से मिलती जुलती ट्रेन थी।’ दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा के साथ वार्ता के बाद प्रधानमंत्री ने शुक्रवार (8 जलाई) को गांधी और नेल्सन मंडेला को श्रद्धांजलि अर्पित की थी। मोदी ने कहा था, ‘व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए, यह यात्रा धरती पर अवतरित होने वाले दो महान आत्माओं महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेल को श्रद्धांजलि देने का एक मौका है।’ उन्होंने कहा था, ‘हम नस्लीय दमन और उपनिवेशवाद के खिलाफ अपनी साझे संघर्ष में साथ रहे। यह दक्षिण अफ्रीका ही था जहां गांधी को सही उद्यम मिला। वह जितना भारत के थे, उतना ही दक्षिण अफ्रीका के।’

Read Also: द.अफ्रीका में भारतीयों से बोले मोदी- दुनिया का चमकता सितारा है भारत, यहां आइए और देखिए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App