ताज़ा खबर
 

मर्डर के आरोपी पति के लिए लाइव चैनल पर मांगी अमेरिकी राष्ट्रपति से मदद! ट्रंप ने दिया यह जवाब

13 अप्रैल को एंगुइला में 27 वर्षीय केनी मिशेल की हत्या हो गई। हत्या का आरोप स्कॉट हैपगुड पर लगा और इस घटना ने 15,000 की आबादी वाले द्वीप को आक्रोश से भर दिया।

Author Published on: October 15, 2019 2:11 PM
अमेरिकी महिला ने अमेरिकी राष्ट्रपति से हत्या के आरोपी अपने पति को बचाने की अपील की है। (फोटो सोर्स: फॉक्स न्यूज स्क्रीन-ग्रैब/ एपी)

अमेरिका में एक महिला ने हत्या के आरोपी अपने पति को बचाने के लिए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप से मदद की गुहार लगाई है। गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी मामले में न्याय दिलाने की बात कही है। कैली हैपगुड नाम की महिला अपने पति के खिलाफ कैरिबियाई द्वीप एंगुइला में हुई हत्या के मामले में ट्रंप से मदद मांगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हैपगुड के पति पर परिवार की छुट्टी के दौरान होटल के एक कर्मचारी की हत्या का आरोप है। न्याय की गुहार के लिए हैपगुड ने लोकप्रिय शो “फॉक्स एंड फ्रेंड्स” का रुख किया और अमेरिकी राष्ट्रपति से मामले में दखल की अपील की। हैपगुड ने बताया कि उनके पति स्कॉट यूबीएस इन्वेस्टमेंट बैंक से जुड़े एक कारोबारी हैं और प्रेम करने वाले व्यक्ति हैं। उन्होंने दावा किया कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है।

हैपगुड ने अपनी अपील में कहा, “मैंने ट्रंप को अमेरिकी नागरिकों को दुनिया भर में संकट में मदद करते देखा है और हमें मदद की जरूरत है।” कैली हैपगुड की अपील अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप तक पहुंच गई और उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि वे इस मामले को देख रहे हैं। गौरतलब है कि यह एक और मामला है जब अमेरिका के राष्ट्रपति किसी आपराधिक मामले में अदालती प्रक्रिया से हटकर अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

इससे पहले ट्रंप ने स्विडेन में गिरफ्तार रैपर रॉकी के मामले में दखल दिया था। अमेरिकी राष्ट्रपति ने 30 जून को मारपीट के आरोप में गिरफ्तार रैपर की रिहाई के लिए काई बार फोन किया। माना जाता है कि ट्रंप के द्वारा स्विडेन पर दबाव बनाने की कोशिश के चलते छोटे स्तर पर कूटनीतिक नुकसान का सामना करना पड़ा था। हालांकि, 2 अगस्त को रॉकी का ट्रायल पूरा होने के बाद रिहा कर दिया गया। रॉकी को स्विडेन की अदालत ने गुनहगार माना था, लेकिन उसे जेल नहीं हो सकी। उस दौरान मीडिया में यह रिपोर्ट आई कि रॉकी ने ट्रंप की इस कोशिश के उन्हें धन्यवाद किया था।

गौरतलब है कि 13 अप्रैल को एंगुइला में 27 वर्षीय केनी मिशेल की हत्या हो गई। हत्या का आरोप स्कॉट हैपगुड पर लगा और इस घटना ने 15,000 की आबादी वाले द्वीप पर आक्रोश को बल दे दिया। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह यह भी थी कि यह द्वीप पूरी तरह से पर्यटन पर भी निर्भर है और लोगों को इस गतिविधि से व्यापारिक खतरे का आभास होने लगा। ‘द न्यू यॉर्क टाइम्स’ ने बताया कि कुछ निवासियों का मानना है कि हैपगुड को अमीर होने के चलते काफी रियायत बरती गई और उनकी गिरफ्तारी के चंद घंटे बाद ही उन्हें रिहा कर दिया गया, जिसके बाद वह अमेरिका के लिए रवाना हो गए।

चैनल पर इस घटना को लेकर हैपगुड ने अपने तरफ से सफाई पेश की और बताया कि उनके होटल का यूनिफॉर्म पहने एक शख्स उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया और सिंक के रिसाव ठीक करने को कहा। हालांकि, उनके पति ने सिंक में रिसाव की बात को खारिज किया, लेकिन फिर भी उसे कमरे के अंदर आने दिया। कमरे के भीतर आते ही मिशल (यूनिफॉर्म पहने युवक) ने चाकू निकाला और पेसे की मांग करने लगा। इसी दौरान आपसी झड़प में उनके पति से भूलवश चाकू से मिशले घायल हुआ और उसकी मौत हो गई। गौरतलब है कि इस मामले में हैपगुड की तरफ से भी कई मर्तबा झूठ बोलने के आरोप लगते रहे हैं। वहीं, मीडिया रिपोर्ट में मिशेल की ऑटोप्सी रिपोर्ट खारिज करने की बात सामने आई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, जेएनयू से कर चुके हैं पढ़ाई, वैश्विक गरीबी को कम करने में दिया अहम योगदान
2 90 के दशक में टीवी सीरियल से हुई थीं घरों में मशहूर, अब पोर्न स्टार बनी यह एक्ट्रेस
3 शादी के नाम पर शारीरिक सुख के लिए बेची गईं 9-9 साल की लड़कियां! मुस्लिम धर्मगुरुओं के VIDEO पर बवाल