अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के पास फायरिंग, कर दिया गया लॉकडाउन

अमेरिकी रक्षा विभाग के पास गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी। इसके बाद पेंटागन को लॉकडाउन कर दिया गया है। अब तक कुछ लोगों के घायल होनें की खबर मिली है।

पेंटागन के बाहर बढ़ाई गई सुरक्षा। फोटो- एपी

अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के प्रवेश द्वार के पास मंगलवार सुबह गोलीबारी के बाद मुख्यालय को बंद कर दिया गया। आर्लिंगटन काउंटी दमकल विभाग ने बताया कि कई लोग घायल हुए लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं है कि क्या उन्हें गोली लगी। पेंटागन प्रोटेक्शन फोर्स एजेंसी ने ट्वीट कर बताया कि यह घटना मेट्रो बस प्लेटफॉर्म पर हुई जो कि पेंटागन ट्रांजिट सेंटर का हिस्सा है। यह स्थान वर्जिनिया के आर्लिंगटन काउंटी में है जो पेंटागन मुख्यालय से कुछ दूरी पर स्थित है।

एसोसिएटेड प्रेस (एपी) के एक पत्रकार ने कुछ-कुछ समय के अंतराल पर कई बार गोलियों की आवाज सुनी। पेंटागन ने कहा है कि पुलिस की कार्रवाई के कारण मुख्यालय को बंद कर दिया गया है। पुलिस की जांच के कारण मेट्रो सबवे ट्रेनों को पेंटागन स्टेशन पर नहीं रूकने का आदेश दिया गया।

बता दें कि पेंटागन वर्जीनिया में एक पांच कोने वाली इमारत है जो कि वॉशिंगटन डीसी के करीब है। इसी में अमेरिका का रक्षा मंत्रालय है। आर्मी, नेवी और एयरफोर्स तीनों के हेडक्वार्टर इसी इमारत में हैं। ऐसे में सुरक्षा के लिहाज से पेंटागन बहुत ही खास है। इस बिल्डिंग को 1941 से 43 के बीच बनाया गया था। इसका उद्देश्य युद्ध से जुड़े सभी विभागों को इकट्ठा करना था।

यह इमारत पांच मंजिला है और स्टील और कंक्रीट से बनी हुई है। 2001 में पांच आतंकियों ने पेंटागन की 60वीं वर्षगांठ के मौके पर एक विमान को हाइजैक कर लिया था। 9/11 की घटना को आतंकवादियों ने अंजाम दिया था। इस अटैक में बिल्डिंग का एक हिस्सा छतिग्रस्त हो गया था।

अफगानिस्तान में रक्षा मंत्री के घर के पास धमाका
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भी एक जोरदार बम धमाका हुआ जिसकी जद में रक्षा मंत्री के घर का भी कुछ हिस्सा आ गया। अब तक यहां किसी की मौत की खबर नहीं मिली है। बड़े धमाके के बाद कई छोटे-छोटे धमाके भी सुनाई दिए। एजेंसियों को मुताबिक यह विस्फोट किसी कार में हुआ था।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।