ताज़ा खबर
 

मानवाधिकार आयोग की मांग- लापता पत्रकार मामले की विस्तृत जांच हो

मानवाधिकार कार्यकर्ता और आयोग की सदस्य हिना जिलानी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘शहजादी का लापता होना शर्मनाक है।
Author लाहौर | April 3, 2016 19:57 pm
अखबार डेली नयी खबर और चैनल मेट्रो न्यूज के लिए काम करने वाली जीनत शहजादी (पीटीआई फाइल फोटो)

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने उस महिला पत्रकार के रहस्यमयी ढंग से लापता होने की घटना की विस्तृत जांच की मांग कर रही थी जो यहां जासूसी के आरोप में जेल में बंद एक भारतीय इंजीनियर के मामले पर नजर रखे हुए थी। आयोग ने एक स्थानीय अखबार डेली नयी खबर और चैनल मेट्रो न्यूज के लिए काम करने वाली जीनत शहजादी के मामले को सुरक्षा एजेंसियों और सरकार के समक्ष उठाया ताकि इस पत्रकार की सुरक्षित रिहाई सुनिश्चित की जा सके। पाकिस्तान में पिछले महीने ‘लापता लोगों’ की संख्या 68 हो गई।

मानवाधिकार कार्यकर्ता और आयोग की सदस्य हिना जिलानी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘शहजादी का लापता होना शर्मनाक है। 24 साल की महिला को बिना वारंट के उठा लिया गया। क्या युवा महिलाओं को उठाने का यह नया चलन है? हम जानना चाहते हैं कि उसका अपराध क्या था और वह बिना वारंट के कैसे लापता हो गई?’’

जीनत का पिछले साल 19 अगस्त को ‘अज्ञात’ लोगों द्वारा कथित तौर अपहरण कर लिया गया। वह भारतीय इंजीनियर हामिद अंसारी का पता लगाने का प्रयास कर रही थी। अंसारी पाकिस्तान की जेल में बंद हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.