ताज़ा खबर
 

मेक्सिको तेल संयंत्र में विस्फोट में 13 की मौत, 10 किमी तक महसूस किया गया असर

वेराक्रूज के गवर्नर जेवियर ड्युर्ते ने कहा कि दुर्घटनास्थल के आस पास रह रहे लोगों को अपने घरों के भीतर रहना चाहिए क्योंकि ‘‘रसायनों का बादल’’ छाया हुआ है।

Author मेक्सिको सिटी | April 21, 2016 9:52 PM
मेक्सिको तेल संयंत्र से उठता जहरीले धुएं का गुबार। (एपी फोटो)

दक्षिण पूर्वी मेक्सिको में एक तेल संयंत्र में भीषण विस्फोट से कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। मुश्किलों में फंसे सरकारी पेट्रोलियम कंपनी पेमेक्स में यह ताजा हादसा है। बुधवार (20 अप्रैल) को हुए इस विस्फोट में मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि 136 लोग घायल हुए हैं जिनमें से 13 की हालत गंभीर बतायी जा रही है। विस्फोट के बाद काले और जहरीले धुएं का गुबार उठा जिससे स्थानीय लोगों में अफरा-तफरी फैल गयी। सभी में डर समा गया की कहीं संयंत्र में फिर से 1991 जैसा विस्फोट तो नहीं हुआ, जिसमें जानलेवा गैस का रिसाव हुआ था।

कोटजाकोलकोस शहर में स्थित पाजारिटोस नाम से जाने जाने वाले संयंत्र से जहरीले धुएं का ऊंचा गुबार उठता दिख रहा है। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि उसका असर आस पास के 10 किलोमीटर तक के इलाके में महसूस किया गया। विस्फोट के कारण बुधवार (20 अप्रैल) को निकटवर्ती स्कूलों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खाली कराना पड़ा। बचावकर्मी विस्फोट से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए संयंत्र के एक हिस्से पर गुरुवार (21 अप्रैल) को पानी डालकर उसे ठंडा करने में जुटे रहे।

राज्य के गृहमंत्रालय के वरिष्ठ असैन्य सुरक्षा अधिकारी लुईस फिलीपे पुंते ने ‘मिलेनिओ’ टीवी को बताया कि विस्फोट के बाद ढ़ांचा गिरने के डर से जांचकर्ता अभी तक अंदर नहीं गए हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हमने परिसर के भीतर प्रभावित क्षेत्र की खोज की है और दुखद है कि अभी तक 13 पीड़ित मिले हैं।’’

पेमेक्स के मुख्य कार्यकारी जोस एंटोनियो गोंजालेज ने बताया कि पेट्रोक्विमिका मेक्सिकाना डी विनिलो (पीएमवी) संयंत्र में विस्फोट किसी प्रकार के लीक के कारण हुआ है। ‘टेलेविसा’ टीवी का कहना है कि संयंत्र में ज्वलनशील पदार्थ जैसे क्लोरिन और इथेनोल का प्रयोग होता है, लेकिन हमें अभी तक लीक का कारण पता नहीं है।

वेराक्रूज के गवर्नर जेवियर ड्युर्ते के अनुसार हादसे के बाद वहां से संयंत्र के 100 कर्मियों और करीब 2000 निवासियों को सुरक्षित बचाया गया है। ड्युर्ते घटनास्थल की ओर रवाना हो गए। उन्होंने बताया कि विस्फोट ‘‘बहुत जबरदस्त’’ था। दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया है। ड्युर्ते ने कहा कि दुर्घटनास्थल के आस पास रह रहे लोगों को अपने घरों के भीतर रहना चाहिए क्योंकि ‘‘रसायनों का बादल’’ छाया हुआ है। कोटजाकोलकोस और पांच निकटवर्ती समुदायों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App