ताज़ा खबर
 

मॉरीशस को कर संधि में संशोधन को लेकर भारत पर पूरा भरोसा

मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ ने इस आशंका को गलतफहमी बताते हुए खारिज किया है कि उनके देश को भारत में कालाधन भेजने के रास्ते के रूप में इस्तेमाल किया जाता है..

Author नई दिल्ली | November 9, 2015 00:57 am
मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ। (पीटीआई फोटो)

मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ ने इस आशंका को गलतफहमी बताते हुए खारिज किया है कि उनके देश को भारत में कालाधन भेजने के रास्ते के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने इस मुद्दे को दोनों देशों के बीच सामान्य बात करार देते हुए उम्मीद जताई है कि द्विपक्षीय कर संधि की समीक्षा से उसके हितों का नुकसान नहीं होगा।

जगन्नाथ ने एक बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि भारत ऐसा कुछ नहीं करेगा जिससे मारीशस को नुकसान हो। उन्होंने कहा कि दोनों देश एक-दूसरे की जरूरतों को लेकर संवेदनशील हैं और दोहरे कराधान से बचाव की संधि की समीक्षा पर बातचीत इसी परिप्रेक्ष्य में हो रही है। उन्होंने कहा- मैं यह भारत पर छोड़ता हूं। आपके देश और आपके प्रधानमंत्री को इस पर पूरी आजादी है। मुझे प्रधानमंत्री में विश्वास है। मैं इसके लिए इंतजार करूंगा।

जगन्नाथ ने कहा- यह गलतफहमी है कि मारीशस का इस्तेमाल भारत के कालेधन को घुमा-फिराकर निवेश के रूप में वापस भेजने के लिए किया जा रहा है। वह इस भ्रांति को दूर करने के लिए अतिरिक्त कदम उठाने को तैयार हैं। आप जानते हैं कि हम भारत के काफी करीब हैं। उन्होंने कहा कि मारीशस के भारत के साथ विशेष रिश्ते हैं।

हाल में भारत-अफ्रीका मंच सम्मेलन में शामिल होने आए जगन्नाथ ने कहा कि दोहरा कराधान बचाव संधि पर विवाद को छोड़कर और कोई मुद्दा नहीं है। अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों में हम कहते हैं कि हम हमेशा भारत के साथ खड़े हैं और भारत जो भी रुख अपनाएगा, हम उसका समर्थन करेंगे। अपनी भारत यात्रा के दौरान जगन्नाथ प्रधानमंत्री मोदी से भी मिले थे। उन्होंने कहा कि मोदी ने मारीशस यात्रा के दौरान भी हमें भरोसा दिलाया था कि भारत ऐसा कुछ कभी नहीं करेगा जिससे मारीशस को नुकसान हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App