पूर्व प्रेमिका की 1 साल की पोती से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, 700 साल जेल की हुई सजा

इस घटना की रिकॉर्डिंग करने के बाद इस युवक ने उसका वीडियो अपने मोबाइल में ही रखा था।

crime, crime news
प्रतीकात्मक तस्वीर।

इस शख्स ने अपनी पूर्व प्रेमिका की 1 साल की पोती का यौन शोषण किया। इतना ही नहीं उसने इस घिनौने काम को करते वक्त अपना एक वीडियो भी बनाया। अब अदालत ने इस शख्स को 700 साल जेल की सजा सुनाई है।

जानकारी के मुताबिक इस काम में युवक की पूर्व प्रेमिका ने भी उसका साथ दिया था। इस घटना की रिकॉर्डिंग करने के बाद इस युवक ने उसका वीडियो अपने मोबाइल में ही रखा था। पूर्व प्रेमिका से अलग होने के बाद इस युवक ने दूसरी महिला से शादी रचा ली।

उसकी पत्नी ने एक दिन यह वीडियो उसके मोबाइल में देख लिया जिसके बाद यहां हंगामा मच गया। वीडियो पर नजर पड़ते ही इस युवती ने इस वीडियो को प्रशासन के हवाले कर दिया। यह घटना West Virginia की है।

‘Charleston Gazette-Mail’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक 41 साल के युवक Richard Smith II और उसकी 46 साल की पूर्व प्रेमिका Roseanna Thompson दोनों South Charleston में रहते थे। 19 फरवरी, 2015 को इन दोनों ने इस बच्ची का यौन शोषण करते हुए अपना वीडियो बनाया था।

कुछ समय बाद रिचर्ड अपनी प्रेमिका से अलग हो गया। रिचर्ड ने दूसरी शादी कर ली। जब उसकी दूसरी पत्नी ने उसके मोबाइल में इस कृत्या का वीडियो देखा तब इस मामला का खुलासा हुआ। मई 2018 में पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए रिचर्ड और उसकी पूर्व गर्लफ्रेंड को गिरफ्तार कर लिया।

इन दोनों पर यौन उत्पीड़न के तहत प्रथम दर्जे के 11 चार्ज लगाए गए। इसके अलावा भी इनपर यौन हिंसा, यौन हमला समेत अन्य चार्ज भी लगाए गए। ज्यूरी ने कई ग्राफिक वीडियो के जरिए भी देखा कि इन्होंने बच्ची के प्रताड़िता किया था।

इसी हफ्ते इस मामले में सजा का ऐलान करते हुए Kanawha Circuit Judge, Tera Salango ने स्मिथ से कहा कि उसे 205 साल जेल में गुजारने होंगे। इसके अलावा भी उसपर अलग-अलग चार्ज हैं जिनमें 25-100 साल की सजा उसे दी गई है। इन सभी मामलों में स्मिथ को 700 से ज्यादा साल की जेल की सजा हुई है।

सजा का ऐलान करने के बाद जज ने कहा कि ‘मैं सोचती हूं कि अब तक जितने भी दानवों से मेरा पाला पड़ा है तुम उनमें सबसे खतरनाक हो।’ आपको बता दें कि मामले की सुनवाई के दरान पीड़ित परिवार के सदस्य कोर्ट रुम में मौजूद नहीं थे।