ताज़ा खबर
 

मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ देशद्रोह की जांच शुरू

मलेशिया के 22 साल तक प्रधानमंत्री रहे महातिर ने नजीब को सत्ता से हटाने के लिए देश के घरेलू मामले में विदेशी हस्तक्षेप के आरोप से इनकार किया है।

Author कुआलालंपुर | April 12, 2016 12:13 AM
मलेशिया पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद (रॉयटर्स फोटो)

मलेशिया ने प्रधानमंत्री नजीब रजक का तख्ता पलट करने के लिए देश में ‘विदेशी हस्तक्षेप’ कराने का कथित प्रयास करने के आरोप में 90 साल के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के खिलाफ देशद्रोह कानून के तहत सोमवार को जांच शुरू की। पुलिस महानिरीक्षक खालिद अबु बकर ने कहा कि एटार्नी जनरल को चार जांच पत्र सौंपे गए हैं, लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया।

सत्ता से हटने से पहले मलेशिया के 22 साल तक प्रधानमंत्री रहे महातिर ने नजीब को सत्ता से हटाने के लिए देश के घरेलू मामले में विदेशी हस्तक्षेप के आरोप से इनकार किया है। महातिर ने कहा कि मैंने किसी भी विदेशी सरकार को हस्तक्षेप करने के लिए नहीं कहा। मैंने कहा कि देश में समाधान के सभी रास्ते नजीब ने बंद कर दिए हैं, इसलिए मैं इस बारे में विदेशी प्रेस को बताऊंगा। न्यूज स्ट्रेट्स टाइम्स ने महातिर के हवाले से कहा कि यदि वे जांच करना चाहते हैं तो करें। मैं पहले भी दो बार जांच के दायरे में रह चुका हूं। उन्होंने जांच की और मेरे सभी मित्रों को गिरफ्तार किया। यही नहीं, इनलैंड रेवेन्यू बोर्ड भी उनके पीछे पड़ा है।

नजीब को सत्ता से हटाने का अभियान चलाने वाले महातिर को संचार व मल्टीमीडिया मंत्री सालेह सईद केरुआक की ओर से जारी बयान पर जवाब देने को कहा गया है। केरुआक ने महातिर के इस सुझाव पर चिंता जताई है कि प्रधानमंत्री को हटाने के लिए विदेशी हस्तक्षेप की अनुमति है। सालेह के मुताबिक महातिर ने कहा था कि बिना बाहरी दबाव के नजीब सत्ता छोड़ेंगे, इसकी बहुत कम उम्मीद है। वहीं महातिर ने कहा कि वह आमतौर पर मलेशियाई मामलों में विदेशी हस्तक्षेप पसंद नहीं करते, लेकिन समाधान के लिए रास्ते पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं।

नजीब को सरकारी कोष मलेशिया डेवलपमेंट बरहद को लेकर हुए घोटाले पर पिछले साल से ही इस्तीफे के दबाव का सामना करना पड़ रहा है। उन पर आरोप है कि इस कोष से 68 करोड़ डालर उनके निजी खातों में स्थानांतरित किया गया। वहीं नजीब का कहना है कि उन्होंने निजी लाभ के लिए इस धन का उपयोग नहीं किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

    Tags: