ताज़ा खबर
 

ब्रिटेन: सिर्फ 6 मिनट में ही नीलाम हो गए महात्मा गांधी के चश्मे, 14 लाख रुपए में नीलामी के थे आसार, 20 गुना ज्यादा लगी बोली

नीलामीकर्ता एंड्रयू स्टोव ने इन चश्मों को अपनी कंपनी की सबसे बड़ी खोज बताया है, उनके मुताबिक महात्मा गांधी ने यह चश्मे दक्षिण अफ्रीका में पहने थे।

Mahatma Gandhi, Glasses, UKमहात्मा गांधी ने ये चश्मे दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पहने थे।

ब्रिटेन में एक लेटरबॉक्स में लावारिस पड़े मिले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का चश्मे की नीलामी हो गई है। पिछले पिछले महीने एक ऑक्शन हाउस के स्टाफ को चश्मे कंपनी के लेटरबॉक्स में लिफाफे में पड़े मिले थे, जिसके बाद शुक्रवार को इनकी नीलामी की गई। बताया गया है कि गांधीजी के यह चश्मे महज 6 मिनट की बोली के बाद ही बिक गए। वह भी अनुमानित बोली से करीब 20 गुना ज्यादा पर।

ईस्ट ब्रिस्टल ऑक्शन्स कंपनी के प्रमुख और नीलामीकर्ता एंड्रयू स्टोव ने चश्मे के लिए 15 हजार पाउंड (करीब 14 लाख रुपए) तक की बोली लगने का अनुमान जताया था। हालांकि, छह मिनट के अंदर ही इस चश्मे की नीलामी हो गई। वह भी 2 लाख 60 हजार ब्रिटिश पाउंड्स (करीब 2.5 करोड़ रुपए) में। एंड्रयू के मुताबिक, यह उनकी कंपनी का नीलामी रिकॉर्ड है। महात्मा गांधी के इन चश्मों को किसने खरीदा, इसका खुलासा नहीं किया गया है। हालांकि, कहा गया है कि एक अमेरिकी कलेक्टर ने फोन के जरिए बोली लगाकर इन्हें अपने नाम कर लिया।

बताया गया है कि इस चश्मे का मालिक मैंगोट्सफील्ड के रहने वाले एक बुजुर्ग हैं, जो नीलामी से मिले पैसों को अपनी बेटी के साथ साझा करेंगे। बताया गया है कि उनके परिवार के पास यह चश्मा पिछली कुछ पीढ़ियों से था। 1920 में परिवार को यह चश्मा अपने एक रिश्तेदार के जरिए मिला था, जो कि दक्षिण अफ्रीका में गांधीजी से मिला था।

बापू ने दक्षिण अफ्रीका में पहने थे ये चश्मे
नीलामीकर्ता एंड्रयू स्टोव के मुताबिक, यह चश्मे उनकी कंपनी के एक कर्मचारी को लेटरबॉक्स में लिफाफे में बंद मिले थे। शुक्रवार से लेकर सोमवार तक यह लिफाफा लेटरबॉक्स में ही पड़ा रहा। हालांकि, जब स्टोव को यह चश्मे मिले तो उन्होंने इसकी जांच शुरू की। इसमें सामने आया कि गोल बनावट वाले यह गोल्ड प्लेटेड चश्मे गांधीजी के चश्मे पहनने के शुरुआती समय के हैं, जब वे दक्षिण अफ्रीका में थे, क्योंकि इनकी पावर काफी कम है। स्टोव ने इसे अपने जीवन की सबसे अहम खोज माना है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 US Presidential Election 2020: क्या है ‘बाइडेन फ्रॉम मुम्बई’ का जो बाइडेन से कनेक्शन, मुंबई के इस शख्स से मिलने को आज भी बेताब हैं राष्ट्रपति उम्मीदवार
2 रूसी राष्ट्रपति पर विपक्षी नेता को जहर दिलाने का शक, अस्पताल का इनकार, जानें- कौन हैं एलेक्सी नवेलनी?
3 चीन का नया पैंतरा, नेपाल के साथ मिलकर माउंट एवरेस्ट की फिर से मापेगा ऊंचाई, जीआईएस सर्वे कर बनाएगा नया मैप, भारत में हड़कंप
ये पढ़ा क्या?
X