ताज़ा खबर
 

अमेरिका में मुस्‍लि‍म कपल के कत्‍लेआम का साइड इफेक्‍ट? गुरुद्वारे में की तोड़फोड़, दीवारों पर ISIS विरोधी नारे लिखे

छह दिसंबर की सुबह लॉस एंजिलिस के उपनगरीय इलाका बुएना पार्क स्थित गुरुद्वारा और उसके पार्किंग स्थल में रखे समुदाय के एक सदस्य के ट्रक में तोड़फोड़ की गई।

Author लॉस एंजिलिस | December 9, 2015 10:47 PM
इस्लामिक स्टेट

कैलिफोर्निया में एक कट्टरपंथी मुस्लिम दंपति के कत्लेआम मचाने के मद्देनजर लॉस एंजिलिस उपनगरीय इलाके के एक गुरुद्वारे में आइएसआइएस विरोधी घृणित नारे लिखे गए और तोड़फोड़ की गई है। गुरुद्वारा सिंह साहब के बोर्ड और समुदाय के सदस्यों ने बताया कि छह दिसंबर की सुबह लॉस एंजिलिस के उपनगरीय इलाके में बुएना पार्क स्थित गुरुद्वारे और उसके पार्किंग स्थल में रखे समुदाय के एक सदस्य के ट्रक में तोड़फोड़ की गई। ‘बुएना पार्क’ स्थित गुरुद्वारे के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह ने बताया, अपने समुदाय के लोगों की सुरक्षा को लेकर हम चिंतित हैं। हमारा मानना है कि यह घृणित अपराध है और यह संभवतया सान बनार्दिनो हत्याकांड का सीधा नतीजा है। गुरुद्वारे के सदस्यों ने बुएना पार्क पुलिस विभाग में घटना की सूचना दी और मामले की जांच में वे कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ सक्रियता से सहयोग कर रहे हैं।

वाशिंगटन स्थित ‘सिख काउंसिल ऑन रिलिजन एंड एजूकेशन’ ने एक बयान में कहा कि रविवार सुबह गुरुद्वारे में तोड़फोड़ की गई और घृणित नारे लिखे गए, जिन्हें गुरुद्वारा की दीवार और वहां खड़े एक ट्रक पर लिखा देखा जा सकता है। इन नारों में ‘इस्लाम’ और आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया।

गुरुद्वारे में साप्ताहिक आधार पर समुदाय के 800 से अधिक लोग आते हैं। वाइट हाउस को इस घटना की जानकारी दे दी गई है और उन्होंने जांच के लिए मामला गृह सुरक्षा विभाग को भेजा है। ‘सिख काउंसिल आॅन रिलिजन एंड एजुकेशन’ के डॉ राजवंत सिंह ने कहा, समूचे अमेरिका में सिख समुदाय बहुत आशंकित हैं और इस हालिया घटना से वे बहुत परेशान हैं। हमने सभी सिख धार्मिक स्थलों को स्थानीय कानून प्रवर्तन एजंसियों और निर्वाचित अधिकारियों से संपर्क में रहने की अपील की है।

हाल में अमेरिका के राष्ट्रपति पद के कुछ उम्मीदवारों की ओर से की गई मुस्लिम विरोधी बयानबाजी पर भी सिंह ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा, अमेरिका में अल्पसंख्यक धर्म के लोगों खासकर सिख समुदाय के लोगों के खिलाफ हिंसा के ऊंचे स्तर का यह नतीजा है। हमें डर है कि समूचे देश में मुस्लिम समुदाय के लोगों के खिलाफ इस तरह का घृणित बयान सिखों को गर्त में ले जाएगा। ‘राइट्स ग्रुप सिख कोलिशंस’ की वरिष्ठ कर्मी गुरजोत कौर ने कहा, हमारा मानना है कि गुरुद्वारा सिंह साहब को इसलिए तोड़ा-फोड़ा गया क्योंकि यह सिखों का पूजास्थल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App