ताज़ा खबर
 

गणतंत्र दिवस पर लंदन में झड़प: नजीर अहमद ने की कश्मीर की आजादी की मांग, भारतीयों ने किया कड़ा विरोध

पाकिस्तान समर्थक लॉर्ड नजीर अहमद ने गणतंत्र दिवस के मौके पर विरोधस्वरूप लंदन में भारतीय उच्चायोग के दफ्तर के सामने ब्लैक डे मनाया तो भारतीयों ने भी जवाबी प्रदर्शन कर मुंहतोड़ जवाब दिया।

Author नई दिल्ली | Updated: January 27, 2018 1:33 PM
लंदन के भारतीय उच्चायोग के सामने कश्मीर की आजादी की मांग को लेकर प्रदर्शऩ कर रहे लोगों से भारतीयों की हुई झड़प( ANI)

लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने गणतंत्र दिवस के मौके पर शुक्रवार को उस समय हंगामा खड़ा हो गया, जब हाउस ऑफ लॉर्ड्स के मेंबर नजीर अहमद ने कश्मीर और खालिस्तान की आजादी की मांग को लेकर ब्लैक डे मनाना शुरू किया। मौके पर पहुंचे भारतीयों से लॉर्ड नजीर अहमद समर्थकों की झड़प हो गई। भारतीयों का साथ ब्रिटिश नागरिक संगठनों ने भी दिया। नजीर समर्थकों ने कश्मीर में भारत के कथित उत्पीड़न के विरोध में यह आयोजन किया था। इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे भारतीय और ब्रिटिश नागरिकों ने नजीर अहमद पर ब्रिटिश सिस्टम का मजाक उड़ाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह खुलेआम पाकिस्तान प्रायोजित खेल लंदन में खेल रहे हैं।

लंदन में लॉर्ड नजीर काफी विवादास्पद व्यक्ति माने जाते हैं। वजह कि कट्टरपंथी और इस्लामिक विचारों से उनकी गहरी सहानुभूति  है। उन पर लंदन में कट्टरपंथियों को बढ़ावा देने का आरोप लगता रहा है। अक्सर भारत के विरोध में लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने विरोध प्रदर्शन की कोशिश करते हैं। मगर, इस बार उन्हें भारतीयों की ओर से मुंहतोड़ जवाब मिल गया। नजीर के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल एक भारतीय कार्यकर्ता और लेखक ने कहा- ‘‘ नजीर को बता देना चाहते हैं कि जहां वे जम्मू-कश्मीर की स्वतंत्रता की मांग कर रहे हैं, वहीं हम पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद, युद्धविराम के उल्लंघन और छद्म युद्ध से स्वतंत्रता चाहते हैं। ”

सेंट्रल लंदन स्थित इंडियन हाईकमिश्नर के सामने विरोध प्रदर्शन के दौरान दोनों पक्षों में जमकर झड़प हुई। एक दूसरे से उलझे दोनों पक्षों को किसी तरह सुरक्षाकर्मियों ने अलग किया। भारतीय प्रदर्शनकारियों ने कहा कि लॉर्ड नजीर अहमद ब्रिटेन में पाकिस्तान प्रायोजित प्रदर्शन करवाने की फिराक में रहते हैं। कश्मीर और खालिस्तान की आजादी की मांग करते हैं मगर पाकिस्तान से आतंकवाद को बढ़ावा देने के मुद्दे पर चुप्पी साध जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमेरिका ने तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के 6 आतंकवादियों पर लगाया बैन
2 विश्व आर्थिक मंच से बोले डोनाल्ड ट्रम्प- ‘अमेरिका फर्स्ट’ का मतलब ‘सिर्फ अमेरिका’ नहीं
3 पेंटागन ने पाक के दावे को बताया झूठा, कहा- अफगानिस्तान के बाहर नहीं हुआ कोई ड्रोन हमला