scorecardresearch

लंदनः ब्रिटेन में दो और मंत्रियों का इस्तीफा, बोरिस जॉनसन की दुश्वारियों में और ज्यादा इजाफा

इससे पहले मंगलवार को, स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद और वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने जॉनसन के मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था।

England, Britain
ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन। (Photo Credit- PTI)

ब्रिटेन में दो और मंत्रियों के इस्तीफे से पीएम बोरिस जॉनसन की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के अनुसार, दो और मंत्रियों ने बुधवार को यूके सरकार से इस्तीफा दे दिया। स्वास्थ्य और वित्त मंत्रियों के जाने के बाद उन पर पहले ही काफी दबाव बढ़ गया था।

इस्तीफा देने वाले दोनों मंत्री हैं शिक्षा मंत्री विल क्विन्स और सेवनोक्स सांसद लौरा ट्रॉट, जिनकी भूमिका परिवहन विभाग में एक मंत्री के सहयोगी के रूप में है। रिपोर्ट में बताया गया है कि ट्रॉट के मुताबिक सरकार ने भरोसा खो दिया है।

इससे पहले मंगलवार को, स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद और वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने जॉनसन के मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के पीछे जॉनसन सरकार में घोटालों की श्रृंखला बड़ी वजह रही। हालांकि, जॉनसन ने जल्दी ही पूर्व व्यवसायी और वर्तमान शिक्षा मंत्री, नादिम ज़ाहावी को अपना नया वित्त मंत्री नियुक्त किया। उन्होंने स्टीव बार्कले को भी स्वास्थ्य विभाग में स्थानांतरित कर दिया था।

इस बीच जॉनसन दो मंत्रिस्तरीय कार्यक्रमों में भाग लेने वाले हैं। वह प्रधान मंत्री के प्रश्न, एक साप्ताहिक कार्यक्रम, दोपहर संपर्क समिति के साथ साक्ष्य सत्र में भाग लेंगे। संपर्क समिति ने एक बयान में कहा कि यूक्रेन और यूके पर इसके प्रभावों पर चर्चा, रहने की बढ़ती लागत और इस पर सरकार की प्रतिक्रिया, राजनीति और कानून के शासन में अखंडता पर ध्यान केंद्रित करने की उम्मीद है।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को एक के बाद एक करके कई घोटालों की सीरीज के बाद देश में राजनीतिक विरोध का सामना करना पड़ा। इसके चलते उनके मंत्री ही उनसे अलग होते जा रहे हैं।

इससे पहले ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन की कंजरवेटिव पार्टी ने अपने उस सांसद को सस्पेंड कर दिया था जिसने संसद में सत्र के दौरान फोन पर पॉर्न फिल्म देखने की बात कबूल की थी। नेल पेरिश 2010 से सांसद हैं। कंजरवेटिव पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि पेरिश ने खुद ही माना था कि संसद की कार्यवाही के दौरान वो पॉर्न फिल्म देख रहे थे। प्रवक्ता का कहना है कि ये अनुशासन हीनता का मामला है। इसे किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं कर सकते।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X