ताज़ा खबर
 

भारत-पाकिस्तान में तनाव, टीवी कार्यक्रमों के प्रसारण का एयरटाइम युद्ध

पाकिस्तानी चैनलों पर लोकप्रिय भारतीय धारावाहिकों और फिल्मों के प्रसारण में छूट के मुशर्रफ काल के नियम को पलट दिया।

Author इस्लामाबाद | October 3, 2016 11:45 PM
उरी हमले के बाद पाकिस्‍तान से लगती नियंत्रण रेखा पर भारत ने मुस्‍तैदी बढ़ाने के साथ ही सैन्‍य तैनाती भी बढ़ा दी है। (Photo:AP)

पाकिस्तान ने सोमवार (3 अक्टूबर) को कहा कि वह भारतीय चैनलों के प्रसारण के लिए उतना ही समय देगा, जिनता कि उसके चैनलों को उसने दिया है। इसके साथ ही, पाकिस्तानी चैनलों पर लोकप्रिय भारतीय धारावाहिकों और फिल्मों के प्रसारण में छूट के मुशर्रफ काल के नियम को पलट दिया। पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी ऑथरिटी (पीईएमआरए) ने उरी हमला और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी शिविरों पर भारत के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) के बाद भारत-पाक संबंधों में आए तनाव के बीच यह घोषणा की।

यहां हुई संस्था के 119 वें सत्र में इसने फैसला किया कि यदि भारत ने पाकिस्तानी कार्यक्रमों के प्रसारण को इजाजत दी तभी पीईएमआरए भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण की इजाजत देगा। पीईएमआरए नियमों के मुताबिक स्थानीय चैनल सिर्फ पांच फीसदी विदेशी कार्यक्रम दिखा सकते हैं लेकिन कई पाकिस्तानी चैनल विदेशी कार्यक्रमों पर निर्भर हैं जिनमें ज्यादातर भारत, तुर्की, अमेरिका, यूरोप के हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App