ताज़ा खबर
 

लायन एअर का विमान टेकऑफ के मिनटों बाद ही समुद्र में क्रैश, 189 लोग थे सवार

जकार्ता से सुमात्रा जा रही लायन एयर सर्विस की फ्लाइट समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जांच व बचाव एजेंसी ने इसकी पुष्टि की है।

लायन एयर की प्लेन दुर्घटनाग्रस्त (प्रतीकात्मक तस्वीर Photo: Twitter@LionAirID)

इंडोनेशिया की खोज व बचाव टीम ने सोमवार (29 अक्टूबर) को बताया कि लायन एयर पैसेंजर फ्लाइट जो कि जकार्ता से सुमात्रा जा रही थी, समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गई। यह विमान उड़ान भरने के तुरंत बाद लापता हो गई थी। एजेंसी के प्रवक्ता यूसूफ लतीफ ने बताया, “इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि प्लेन क्रैश हो गया है।” अधिकारियों के अनुसार, उड़ान भरने के 13 मिनट बाद प्लेन से संपर्क टूट गया। एयर ट्रैकिंग सर्विस फ्लाइटरडार24 के अनुसार, जो प्लेन दुर्घटनाग्रस्त हुई है, वह बोइंग 737 मैक्स 8 है। दुर्घटनाग्रस्त प्लेन पर 189 लोग सवार थे। इसमें तीन बच्चे सहित 181 यात्री, 6 क्रू मेंबर और 2 पायलट शामिल हैं। अभी इसकी पूरी जानकारी सामने नहीं आयी है कि इनमें से कोई सुरक्षित बचे हैं या नहीं? लायन एयर ग्रुप के चीफ एक्सक्यूटिव एडवर्ड सिरैट ने कहा, “इस समय हम किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दे सकते हैं। हम सभी सूचना और डाटा को इकट्ठा कर रहे हैं।”

एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरावो नुगरोहो ने एक टूटा स्मार्टफोन, किताबें, बैग और विमान फ्यूजलेज के कुछ हिस्सों सहित मलबे के फोटो को ट्विटर पोस्ट की जो कि रेसक्यू और सर्च टीम द्वारा एकत्र की गई है। रेसक्यू और सर्च एजेंसी के प्रमुख मोहम्मद स्युगी ने कहा कि, “मलबा उस जगह मिला है जहां लायन एयर विमान का संपर्क हवाई यातायात के अधिकारियों से टूट गया था। हम अभी तक यह नहीं जानते कि इस इस घटना में कोई जीवित बचे हैं या नहीं? हम सिर्फ उपरवाले से उनकी कुशलता की दुआ कर सकते हैं।”

इंडोनेशिया की सुरक्षा परिवहन समिति के एक अधिकारी ने कहा कि वह दुर्घटना के कारण नहीं की जा सकती है। विमान का ‘ब्लैक बॉक्स’ मिलने के बाद ही पूरे मामले की जानकारी मिल सकेगी। सोर्जेंटो तजाजोना ने कहा, “विमान इतना आधुनिक है कि यह सभी डेटा को ट्रांसमिट करता है। हम इसकी समीक्षा करेंगे। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण ब्लैक बॉक्स है।” वहीं, एक बयान में लायन एयर ने कहा कि विमान के पायलट और सह-पायलट ने अब तक एक साथ करीब 11,000 घंटे उड़ान भरे हैं।

राष्ट्रीय तलाश और बचाव एजेंसी (एनएसआरए) ने कहा कि पश्चिम जावा के पास समुद्र में यह विमान गिरा। यह जगह 30-35 मीटर (98-115 फुट) गहरी है। एनएसआरए के प्रमुख मुहम्मद स्याउगी ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि गोताखोर विमान के पूरे मलबे का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। बोइंग 737-800 विमान सुबह 6 बजकर 20 मिनट पांगकल पिनांग के लिए जकार्ता से रवाना हुआ था। विमान की स्थिति पर नजर रखने वाली वेबसाइट ‘फ्लाइटअवेयर’ पर ‘फ्लाइट 610’ से संबंधित सूचना इसके उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद नजर आनी बंद हो गई। ‘इंडोनेशियन टीवी’ ने दर्जनों लोगों को पांगकल पिनांग हवाई अड्डे के बाहर लोगों को बेचैनी में अपने परिजन से जुड़ी सूचना का इंतजार करते और अधिकारियों को प्लास्टिक की कुर्सियां लाते दिखाया।

जकार्ता तलाश एवं बचाव दफ्तर ने अपनी रिपोर्ट में एक नौका के चालक दल के सदस्यों का हवाला दिया है। दरअसल, इस नौका के चालक दल के सदस्यों ने ही ‘लायन एयर’ के विमान को आसमान से गिरते देखने पर इस बारे में सूचित किया था। एनएसआरए की ओर से वायुसेना को भेजे गए एक टेलीग्राम में तलाश के काम में उसकी सहायता मांगी गई है। दिसंबर 2014 में एयरएशिया के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद यह इंडोनेशिया में सबसे बड़ा विमान हादसा है। एयरएशिया का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने पर उसमें सवार सभी 162 लोग मारे गए थे।

बोइंग के द्वारा यह प्लेन लायन किंग को इसी वर्ष अगस्त महीने में दिया गया था। बोइंग वेबसाइट के अनुसार, इस पैसेंजर प्लेन की कुल क्षमता 210 यात्रियों को लाने ले जाने की है। लायन एयर इंडोनेशिया का सबसे बड़ा एयरलाइंस है। इसके प्लेन दर्जनों घरेलू और इंटरनेशनल उड़ान भरते हैं। वर्ष 2013 में इसका एक विमान बोइंग 737-800 बाली के रिसॉर्ट आइलैंड में लैंडिंग के वक्त समुद्र में चला गया था। उस समय विमान पर 108 यात्री सवार थे। हालांकि, इस घटना में विमान में सवार लोगों में से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ था। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Next Stories
1 श्रीलंका: हिंसक हुआ संकट, राजपक्षे समर्थकों पर गोली चलाई, राजनीतिक घटनाक्रम पर भारत की सतर्क निगाह
2 श्री लंका में राजनीतिक संकट गहराया, मंत्री के गार्ड ने पीएम समर्थकों पर दागी गोलियां, एक की मौत
3 300 रुपये के लिए तरस रहा था रिक्शा चालक, खाते में अचानक आए 300 करोड़!
ये पढ़ा क्या?
X