ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप की तरह COVID-19 हल्के में ले रहीं बेटी इवांका? नहीं मानी गाइडलाइंस, स्कूल के विरोध के बाद बच्चों को स्कूल से निकाला, दूसरी जगह दिलाया दाखिला

अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कोरोनावायरस को गंभीरता से न लेने के लिए चर्चा में रहे हैं। अब ऐसा ही उनकी बेटी इवंका ने भी किया है। इवांका ट्रंप को कोरोना वायरस गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर अपने बच्‍चों को स्‍कूल से निकालना पड़ा है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 16, 2020 11:04 AM
ivanka trump jared kushner covid 19, ivanka trump jared kushner children, ivanka trump covid guidelines violationट्रम्प की बेटी इवांका कोरोना गाइडलाइंस नहीं मानतीं। (AP Photo/Susan Walsh, file)

कोरोना वायरस का प्रकोप अब भी कम नहीं हुआ है। ऐसे में दुनिया के ज़्यादातर देश अब भी इससे जुड़ी गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन कर रहे हैं। अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कोरोनावायरस को गंभीरता से न लेने के लिए चर्चा में रहे हैं। अब ऐसा ही उनकी बेटी इवंका ने भी किया है। इवांका ट्रंप को कोरोना वायरस गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर अपने बच्‍चों को स्‍कूल से निकालना पड़ा है।

इवांका ट्रंप और उनके पति जैरेड कुश्‍नर ने अब अपने तीन बच्‍चों का नाम वॉशिंगटन के पॉश स्‍कूल से निकालकर एक दूसरे स्‍कूल में लिखवाया है। ये तीनों बच्‍चे स्‍कूल में पिछले 3 साल से पढ़ाई कर रहे थे। तंप के साथ इवांका और जैरेड की सार्वजनिक रूप से सक्रियता देखकर स्कूल ने उन्हें कई बार कोरोना को लेकर सतर्कता बरतने के लिए कहा। लेकिन वे नहीं माने और स्कूल की सख्ती को देखते हुए इवांका ने अपने तीनों बच्चों को इस स्कूल से निकाल लिया।

स्‍कूल के प्रबंधकों ने बताया कि इवांका ट्रंप और उनके पति जेरेड ने कई बार सार्वजनिक रूप से पैरंट्स के लिए जारी कोरोना वायरस गाइडलाइन का उल्‍लंघन किया था। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक इवांका ट्रंप और उनके पति ने कई बार स्‍कूल के पैरंट हैंडबुक में लिखे कोविड-19 से बचाव के गाइडलाइन को नहीं माना। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई शिकायतों, मास्‍क पहनने और सोशल डिस्‍टेंसिंग के पालने के अनुरोध के बाद इवांका ट्रंप को अपने बच्‍चों को स्‍कूल से निकालने के लिए मजबूर होना पड़ा।

बता दें अमेरिका में कोविड-19 के मामले 1.1 करोड़ के भी पार पहुंच जाने के बाद अब कई राज्यों ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए नए सिरे से प्रयास आरंभ कर दिए हैं। कोरोना वायरस के करीब दस लाख मामले एक हफ्ते से भी कम समय के भीतर सामने आए हैं। वाशिंगटन और कई अन्य राज्यों की राह पर चलते हुए मिशिगन ने भी संक्रमण को रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं। मिशिगन के गवर्नर ग्रेचेन व्हिटमर प्रशासन ने रविवार को हाई स्कूल और कॉलेज व्यक्तिगत उपस्थिति कक्षाएं बंद करने, रेस्टोरेंट में बैठकर भोजन करने की व्यवस्था बंद करने और खेलकूद गतिविधियों को भी बंद करने का आदेश दिया।

आदेश के तहत मनोरंजन की कई गतिविधियां बंद की जाएंगी और जिम में सामूहिक व्यायाम कक्षाएं नहीं होंगी। ये नए नियम तीन हफ्ते तक प्रभावी रहेंगे। इससे पहले वाशिंगटन के गर्वनर जे. इन्स्ली ने व्यवसायों और सामाजिक मेलजोल पर नई पाबंदियों की घोषणा की थी। ‘जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी’ के कोरोना वायरस संबंधी आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में रविवार तक कोविड-19 के मामले 1.1 करोड़ पर पहुंच गए। नौ नवंबर को यहां संक्रमण के मामले एक करोड़ पर पहुंचे थे, जिसका मतलब है कि करीब दस लाख मामले महज छह दिन के भीतर सामने आए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दुनिया में बढ़ेगी बेतहाशा भुखमरी, कौर-कौर को लोग हो सकते हैं मोहताज? 2021 में और भी बुरे होंगे हालात- WFP ने चेताया
2 RCEP Deal: चीन सहित 15 देशों ने किया बड़ा समझौता, भारत रहा बाहर
3 अमेरिकाः राष्ट्रपति चुनाव में हारे डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक विरोधी प्रदर्शकारियों से भिड़े, वाशिंगटन में हिंसा
यह पढ़ा क्या?
X