ताज़ा खबर
 

‘फटी जींस पहनने वाली लड़कियों का रेप करना राष्ट्रीय जिम्मेदारी’ वाले बयान पर जेल गया वकील

वकील इससे पहले से विवादों में रहा है और उस पर करीब साढ़े 72 हजार रुपए का जुर्माना भी लग चुका है। वकील ने यह बयान अक्टूबर में हुई टीवी डिबेट में दिया था।

वकील नबीह अल वाहश ने यह विवादित बयान अक्टूबर में एक टीवी डिबेट के दौरान दिया था। (फोटोः यूट्यूब)

मिस्र में एक वकील के लिए उसका विवादित बयान भारी पड़ा है। वकील नबीह अल वाहश ने कहा था कि फटी जींस पहनने वाली लड़कियों का रेप करना राष्ट्रीय जिम्मेदारी है। कोर्ट ने इसके लिए उसे तीन साल की जेल की सजा सुनाई है। वकील इससे पहले से विवादों में रहे हैं और उस पर करीब साढ़े 72 हजार रुपए का जुर्माना भी लग चुका है। वकील ने यह बयान अक्टूबर में हुई एक टेलीविजन डिबेट के दौरान दिया था, जिसमें वेश्यावृत्ति पर कानून को लेकर बात हो रही थी। अपने विवादित बयान में वकील ने कहा था, “मैं कहता हूं कि जब कोई लड़की सड़क से गुजरती है, तो उसे सेक्सुअली हैरेस करना और रेप करना राष्ट्रीय जिम्मेदारी बनती है।” ‘अल असीमा’ पर उन्होंने आगे कहा था, “क्या आप सड़क से गुजरती लड़की को देख कर खुश होते हैं, जिसके शरीर के पीछे का हिस्सा दिख रहा होता है? मैं कहता हूं कि जब लड़की इस तरह से चले तो उसे सेक्सुअली हैरेस करना और उसका रेप करना राष्ट्रीय जिम्मेदारी बनती है।” वकील ने आगे यह भी कहा, “जो महिलाएं छोटे कपड़े पहनती हैं, वे पुरुषों को उन्हें हैरेस करने के लिए निमंत्रण देती हैं। ऐसे में अपनी सीमाओं की सुरक्षा करने से ज्यादा अहम सिद्धांतों की रक्षा करना होता है।”

मिस्र में वकील के इस बयान के बाद बवाल मचा हुआ है। यहां नेशनल काउंसिल फॉर वीमेन ने इस बाबत टीवी चैनल के खिलाफ शिकायत देने की बात कही है। मिस्र के नेशनल काउंसिल फॉर वीमेन ने इससे पहले नबीह और टीवी चैनल के खिलाफ देश के अटॉर्नी जनरल से शिकायत करने की घोषणा की है। मिस्र के महिला आयोग ने कहा कि वह देश की सर्वोच्च अदालत में टीवी चैनलों पर ऐसे विवादित व्यक्तिों को बुलाने पर रोक लगाने की मांग करेगा।

Rape, Rape by Family members, Rape in up, gangrape, gangrape by Family members, Family members raped, Family members rape case, Four Members of Family Raped, four accused Arrested, state news तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App