ताज़ा खबर
 

लास वेगास आतंकी हमले की ISIS ने ली जिम्मेदारी, गोलीबारी में 50 मरे, 200 से ज्यादा घायल

Las Vegas Attack: आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

लॉस वेगास में ‘हमलावर’ की तलाश में पुलिसकर्मी। (AP Photo)

अमेरिका के लास वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक लोग घायल हो गए। आधुनिक अमेरिकी इतिहास में यह अब तक गोलीबारी की सबसे घातक घटना है। पुलिस ने कहा कि बंदूकधारी की पहचान 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक के तौर पर हुई है। वह स्थानीय निवासी है। स्वैट टीम ने उसे मार गिराया । हमलावर ने एक संगीत समारोह स्थल के बगल में मैंडले बे की 32वीं मंजिल से गोलीबारी की थी । आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस्लामिक स्टेट की न्यूज एजेंसी अमाक ने कहा है कि लास वेगास के हमलावर ने कुछ महीने पहले ही इस्लाम कबूला किया था।

स्मार्ट फोन से ली गई फुटेज में दिख रहा है कि अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सोमवार सुबह पांच बजे चलायी गयीं गोलियों की आवाज आने के बाद लोग चिल्लाने लगे और दहशत में भागने लगे। लास वेगास मेट्रो पुलिस के शेरिफ जोसफ लोमबार्डो ने कहा, ‘हम इस वक्त देख रहे हैं कि 50 से ज्यादा व्यक्तियों की मौत हुई है और 200 व्यक्ति जख्मी हुए हैं।’ उन्होंने कहा कि जाहिर तौर पर यह दुखद घटना है और इस तरह की है जिसका हमने कभी अनुभव नहीं किया था। लोमबार्डो ने कहा कि पुलिस और एफबीआई अब भी पैडॉक की भूमिका की जांच कर रही है लेकिन होटल में जो कमरा उसने लिया हुआ था उसमें कई हथियार हैं।

पुलिस ने कहा कि पैडॉक ने प्रसिद्ध लास वेगास स्ट्रीप में स्थित विशाल होटल की 32वीं मंजिल से नीचे भीड़ पर गोलीबारी की। लोमबार्डों ने कहा कि पैडॉक की एक महिला मित्र के बारे में पता लगा है। इसको एक ऐसी शख्सियत बताया गया है जो पुलिस के काम की हो सकती है। मैंडले बे के बराबर में हजारों प्रशंसक संगीत समारोह में शिरकत कर रहे थे। यह तीन दिवसीय लोकसंगीत उत्सव का हिस्सा है ‘‘जिसे रूट 91’’ के तौर पर जाना जाता है।

व्हाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ‘भयावह घटना’ के बारे में जानकारी दे दी गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्टिर पर पीड़ितों और परिवारों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की है। चश्मदीदों ने बताया कि पैडॉक ने पहले देर तक गोलीबारी की और फिर से लगता है कि उसने बंदूक को रीलोड किया और फिर से गोलीबारी की। निक डिकर्फ ने सीएनएन को बताया, ‘हमने कांच टूटने जैसी आवाज सुनी तो हम यहां-वहां यह देखने लगे कि क्या हुआ है और फिर सुना की गोली चली, गोली चली, गोली चली।’

उस समय काफी लोकप्रिय गायक जेसन एल्डीन स्टेज पर थे और जब गोलीबारी शुरू हुई तब वह अपना संगीत समारोह खत्म करने वाले थे। हताहतों की अंतिम संख्या की अभी पुष्टि होनी है लेकिन अमेरिका के इतिहास में यह गोलीबारी की सबसे घातक घटना बन गई है। गोलीबारी की पिछली सबसे घातक घटना जून 2016 में हुई थी। जब ओरलैंडो के एक नाइट क्लब में गोलीबारी में 49 लोगों की मौत हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App