ताज़ा खबर
 

कीथ वाज ने कहा: भारत को लौटाया जाए ‘कोहिनूर हीरा’

ब्रिटिश भारतीय सांसद कीथ वाज ने नवंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन के संभावित दौरे के समय विश्व प्रसिद्ध कोहिनूर हीरा भारत को लौटाने का मंगलवार को आह्वान किया।

Author April 19, 2016 10:47 am
कीथ वाज ने किया भारत को कोहिनूर लौटाने का समर्थन

ब्रिटिश भारतीय सांसद कीथ वाज ने नवंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन के संभावित दौरे के समय विश्व प्रसिद्ध कोहिनूर हीरा भारत को लौटाने का मंगलवार को आह्वान किया।

वाज का यह बयान कांग्रेस सांसद शशि थरूर के ऑक्सफोर्ड यूनियन में दिए गए हालिया भाषण की प्रतिक्रिया में आया है, जिसमें उन्होंने ब्रिटेन से 200 वर्षों तक भारत पर बर्बर औपनिवेशिक शासन के लिए हरजाने की मांग की थी।

वाज ने कहा कि मैं डॉ थरूर के बयान और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उनके संदेश का समर्थन किए जाने का स्वागत करता हूं। मैं उनके दृष्टिकोण से सहमत हूं। ये जायज आपत्ति है जिसका समाधान होना चाहिए।

एशियाई मूल के सबसे लंबे समय तक ब्रिटिश सांसद रहने वाले ब्रिटिश वाज ने कहा कि वित्तीय हरजाना देना एक जटिल, समय लेने वाली और संभावित रूप से निरर्थक प्रक्रिया है। लेकिन कोहिनूर हीरे जैसी अमूल्य वस्तुओं को नहीं लौटाने के लिए कोई बहाना नहीं हो सकता। मैंने कई साल तक इस मुहिम का समर्थन किया है।

मोदी का नवंबर में ब्रिटेन का दौरा होना है और ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन मजबूत द्विपक्षीय संबंध बरकरार रखने के लिए असाधारण प्रयास कर रहे हैं। वाज ने कहा कि वह कितना शानदार क्षण होगा जब यदि प्रधानमंत्री मोदी अपनी बहुत दिनों से प्रतीक्षित यात्रा को संपन्न करते हैं तथा वह हीरे को लौटाये जाने के वादे के साथ भारत लौटते हैं।

मध्यकाल में आंध्रप्रदेश के गुंटुर जिले में कोल्लूर खान से कोहिनूर निकाला गया। एक समय इसे दुनिया का सबसे बड़ा हीरा माना जाता था। मूल रूप से इस पर काकतीय राजवंश का मालिकाना हक रहा और उसने इसे एक मंदिर में देवी की आंख के तौर पर इसे स्थापित किया।

इसके बाद यह कई आक्रमणकारियों के हाथों गुजरा और आखिरकार ब्रिटिश शासन में वहां पहुंचा। अब यह हीरा महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के ताज का हिस्सा है। अभी तक ब्रिटेन इस हीरे को उसके मूल देश को लौटाने से मना करता रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App