ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप का टि्वटर अकाउंट सस्पेंड करना था इस भारतवंशी महिला का फैसला, जानिए कौन हैं विजया गड्डे

ट्विटर की लीगल मामलों की प्रमुख विजया गड्डे का जन्म भारत में ही हुआ था। उनके पिता मैक्सिको की एक रिफ़ाइनरी में इंजीनियर थे। इसलिए विजया भी मैक्सिको चली गयीं थी। बाद में उन्होंने अपनी स्कूली पढाई अमेरिका के न्यू जर्सी से की।

vijaya gadde , donald trump , USAप्रधानमंत्री मोदी और ट्विटर संस्थापक जैक डॉर्सी के साथ विजया गड्डे (फोटो क्रेडिट – ट्विटर / vijaya gadde)

अमेरिकी संसद कैपिटल हिल पर ट्रंप समर्थकों के हमले के बाद ट्विटर ने वर्तमान राष्ट्रपति का अकाउंट हमेशा के लिए बंद कर दिया है। ट्विटर का आरोप है कि राष्ट्रपति ट्रंप के कई सारे ट्वीट हिंसा को उकसावा देते हैं। इसलिए भविष्य में हिंसा के जोखिम को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट स्थायी रूप से बंद कर दिया गया हैं। डोनाल्ड ट्रम्प के ट्विटर अकाउंट को बंद करने का फैसला भारतीय अमेरिकी नागरिक विजया गड्डे का है।

विजया गड्डे ट्विटर की लीगल और सेफ्टी मामलों की प्रमुख हैं। डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर अकाउंट को बंद करने के बाद विजया ने ट्वीट करते हुए लिखा था “ भविष्य में भड़कने वाली हिंसा के मद्देनजर डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। इसके लिए कंपनी ने अपनी नीति भी सभी लोगों के साथ साझा की है”। अकाउंट बंद होने के बाद ट्रंप ने ट्विटर पर निशाना साधते हुए कहा था कि ट्विटर फ्री स्पीच को बैन करता है।

ट्विटर की लीगल मामलों की प्रमुख विजया गड्डे का जन्म भारत में ही हुआ था। उनके पिता मैक्सिको की एक रिफ़ाइनरी में इंजीनियर थे। इसलिए विजया भी मैक्सिको चली गयीं थी। बाद में उन्होंने अपनी स्कूली पढाई अमेरिका के न्यू जर्सी से की।  इसके बाद विजया ने आगे की पढाई के लिए कोर्नेल यूनिवर्सिटी और न्यूयार्क यूनिवर्सिटी लॉ स्कूल में दाख़िला लिया। क़ानूनी पढाई पूरी करने के बाद विजया ने सैन फ्रांसिसको की एक कंपनी के साथ लगभग 10 साल तक काम किया। उसके बाद वह 2011 में ट्विटर से जुड़ीं।

प्रसिद्ध मैगज़ीन फार्च्यून के अनुसार जब ट्विटर प्रमुख जैक डॉर्सी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी तब विजया ओवल ऑफिस में ही थी। इतना ही नहीं जब नवंबर 2018 में ट्विटर के सह संस्थापक जैक डॉर्सी प्रधानमंत्री मोदी से मिलने भारत आये थे तब विजया गड्डे भी उस मीटिंग में मौजूद थीं। विजया कॉर्पोरेट लॉयर के रूप में ट्विटर में काम कर रहीं हैं। पिछले एक दशक से वह ट्विटर के ढेरों महत्वपूर्ण फैसले ले चुकी हैं। 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान पैसे लेकर ट्विटर पर राजनीतिक प्रचार ना करने का फैसला भी विजया गड्डे का ही था ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत से लेकर रहेंगे कालापानी, लिम्पियाधुरा और लिपुलेख क्षेत्र- नेपाली PM की गीदड़भभकी
2 मालदीव: भारत से अच्छे रिश्तों को विपक्षी बता रहे अति-निर्भरता, राष्ट्रपति सोलिह बोले- बेहतरीन होते संबंधों पर खेद कैसा?
3 इंडोनेशिया: लापता हुए विमान का मलबा मिला, समुद्र में मिल रहे मानव अवशेष
ये पढ़ा क्या?
X