X

दोबारा मिल सकते हैं डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग-उन, अमेरिका ने रखी एक शर्त

व्हाइट हाउस ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन के बीच दोबारा मुलाकात होने की संभावना बनी हुई है।

व्हाइट हाउस ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन के बीच दोबारा मुलाकात होने की संभावना बनी हुई है। व्हाइट हाउस का कहना है कि यदि उत्तर कोरिया द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य बनाए रखना चाहता है तो इसके लिए प्योंगयांग को परमाणु निरस्त्रीकरण की ओर कदम आगे बढ़ाने होंगे।
व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने वाशिंगटन में संघीय समाज के समक्ष एक भाषण में कहा, “दोनों नेताओं के बीच एक और बैठक की संभावना स्पष्ट रूप से मौजूद है। उन्होंने आगे कहा, “लेकिन उत्तर कोरिया को परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में कदम उठाने होंगे और यही वह चीज है जिसका हम इंतजार कर रहे हैं।”

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा कि वह इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि जुलाई में जैसा कि उत्तर कोरिया ने कहा था वह अपनी अधिकांश बैलिस्टिक मिसाइलों को एक साल के भीतर नष्ट कर सकता है। जब बोल्टन से पूछा गया कि वह किस आधार पर ऐसा कह रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि पिछले अप्रैल में किम ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून-जे इन को बताया था कि वह उत्तर कोरिया को दो वर्षों में परमाणु हथियारों से मुक्त कर सकते हैं।

गौरतलब है कि जून में ट्रंप और किम जोंग के बीच हुई ऐतिहासिक बैठक में एक संयुक्त बयान जारी किया गया था, जिसमें दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों की बहाली और चिरस्थाई शांति बहाली के लिए मिलकर काम करने पर जोर दिया था।