ताज़ा खबर
 

किम जोंग नाम हत्या: वीडियो सामने आने के बाद उत्तर कोरिया-मलेशिया के बीच विवाद गहराया

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया पर इस मौत के संबध में उंगली उठाते हुए कहा था कि नेता किम जोंग-उन ने अपने भाई को मारने का आदेश दिया था।

Author कआलालंपुर | February 21, 2017 00:54 am
उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम। (AP PHOTO/KYODO NEWS/File)

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के भाई की मौत से जुड़ा एक वीडियो सामने आने के बाद उत्तर कोरिया एवं मलेशिया के बीच वाकयुद्ध शुरू हो गया है। वीडियो फुटेज में किम पर कुआलालंपुर हवाईअड्डे पर जानलेवा हमला करने का दृश्य है। हवाईअड्डे पर किम जोंग नाम की हत्या के सिलसिले में पांच उत्तर कोरियाई नागरिक मलेशिया की जांच के घेरे में हैं लेकिन उत्तर कोरिया का कहना है कि उसका जांच पर भरोसा नहीं है और उसने मलेशिया सरकार पर ‘दुश्मन ताकतों’ से मिले होने का आरोप लगाया है।

मामले में कूटनीतिक विवाद तब गहरा गया जब मलेशिया ने उत्तर कोरिया से अपने राजदूत को वापस बुला लिया और उत्तर कोरिया के राजदूत कांग चोल को सोमवार (20 फरवरी) को फटकार लगाने के लिए तलब किया। लेकिन कांग ने पलटवार किया। उन्होंने संवाददाताओं से यहां कहा, ‘घटना के बाद से सात दिन हो गए हैं लेकिन मौत के कारण को लेकर कोई साफ सबूत नहीं है और इस समय हम मलेशियाई पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं कर सकते।’

उत्तर कोरिया ने उसकी मंजूरी के बिना पोस्टमार्टम कराने के लिए मलेशिया की आलोचना भी की। मलेशिया ने इस शिकायत को आधारहीन बताया। विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘मंत्रालय इस बात पर जोर देता है कि मौत मलेशिया की जमीन पर रहस्यमय परिस्थितियों में हुई है, इसलिए मलेशिया सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वह मौत की वजह जानने के लिए जांच कराए।’ दोनों देशों के बीच विवाद उस समय पैदा हुआ जब मलेशिया की पुलिस ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई का शव सौंपने की उत्तर कोरिया के राजदूत की मांग को मानने से इंकार कर दिया था। ऐसा लगता है कि किम जोंग नाम की मौत कुआलालंपुर हवाईअड्डे पर जहर देने के कारण हुई।

उत्तर कोरिया के राजदूत कांग चोल ने पिछले सप्ताह मुर्दाघर के बाहर संवाददाताओं से कहा था कि मलेशिया दक्षिण कोरिया के दबाव में आकर अपने उत्तरी पड़ोसी को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है। दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया पर इस मौत के संबध में उंगली उठाते हुए कहा था कि नेता किम जोंग-उन ने अपने भाई को मारने का आदेश दिया था। पुलिस ने रविवार (19 फरवरी) को कहा था कि उसका विश्वास है कि उत्तर कोरिया के पांच लोग हत्या में शामिल हैं, जिनमें से चार हत्या के बाद मलेशिया छोड़कर उसी दिन चले गए थे।

अधिकारियों ने कुआलालंपुर में रह रहे एक उत्तर कोरियाई व्यक्ति को, एक इंडोनेशियाई महिला को और उसके मलेशियाई मित्र तथा एक वियतनामी महिला को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि पूछताछ के सिलसिले में तीन और उत्तर कोरियाई नागरिक वांछित हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App