ताज़ा खबर
 

कोरोना संकट: भूख से बेहाल बच्चों को बहलाने के लिए मां को करना पड़ा पत्थर पकाने का नाटक

Coronavirus Outbreak: कोरोना काल के बीच कीनिया की एक महिला की तस्वीर सोशल मीडिया में खासी वायरल हो रही है। रिपोर्ट के मुताबिक महामारी के चलते महिला इतनी गरीब हो गई उसे बच्चों को बहलाने के लिए पत्थर पकाने का नाटक तक करना पड़ा गया।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

Coronavirus Outbreak: घातक कोरोना वायरस लगातार अपना कहर बरपा रहा है। महामारी के चलते दुनियाभर में आर्थिक मंदी के बादल मंडराने लगे हैं। प्रवासी मजदूरों और गरीबों को अब राशन की व्यवस्था करने में भी खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। रोजगार के साधनों में लगातार कमी दर्ज की जा रही है। ऐसे ही कोरोना काल के बीच कीनिया की एक महिला की तस्वीर सोशल मीडिया में खासी वायरल हो रही है। रिपोर्ट के मुताबिक महामारी के चलते महिला इतनी गरीब हो गई उसे बच्चों को बहलाने के लिए पत्थर पकाने का नाटक तक करना पड़ा गया। वायरल तस्वीर बीबीसी हिंदी ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर की है।

Coronavirus in Rajasthan LIVE Updates

रिपोर्ट के मुताबिक तस्वीर में नजर आ रही महिला आठ बच्चों की मां पेनिना बहाती है। वो निरक्षर है और पति इस दुनिया है नहीं। महिला लोगों के कपड़े धोकर अपने परिवार का पेट पालती थीं, मगर कोरोना महामारी के बाद उनका ये काम ठप हो गया। पैसों की इतनी ज्यादा तंगी हो गई कि बच्चों को खिलाने के लिए भोजन का एक दाना तक नहीं था। बच्चों रोने लगे तक उन्हें बहलाने के लिए गर्म पानी में पत्थर उबालना शुरू कर दिया। बहाती ने ऐसा इसलिए किया ताकी बच्चे बर्तन में कुछ पकता हुए देख भोजन का इंतजार करते-करते सो जाएं।

पूरे घटनाक्रम को उनकी एक पड़ोसी ने अपने कैमरे में कैद कर लिया और मीडिया को इसकी जानकारी दे दी। दरअसल पड़ोसी प्रिस्का बच्चों के रोने की आवाज सुनकर बहाती के घर पहुंची थी कि कहीं बच्चों को को कोई परेशानी तो नहीं है। मामला सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लोगों ने उनके लिए पैसे इकट्ठा किए और मदद पहुंचाई।

देशभर में कोरोना वायरस से जुड़ी खबर लाइव पढ़ने के लिए यहां क्कि करें

बता दें कि तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लोगों ने भी इसपर प्रतिक्रियाएं दी हैं। नेम NaimFem लिखते हैं, ‘जब पूरे दुनिया का धन मात्र कुछ परिवारों तक ही घूम रहा है तो यह भुखमरी आम बात है, गरीबी भुखमरी मिटाने का दावा करने वाली एजंसियां भी धोखा देती हैं समाज को। सरकारें तो करीब-2 हर देश की कार्पोरेट जगत की गुलाम हैं जिस देश में भुखमरी हो वहां के नेता मौज करें?’ राजन कुमार @RAJANKUMAR06275 लिखते हैं, ‘हमलोग एक तरफ पूरे विश्व से भुखमरी मिटाने का दावा कर रहे हैं, और एक तरफ पेट की भूख बुझाने के लिए पत्थर?’

कोरोना वायरस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें | गृह मंत्रालय ने जारी की डिटेल गाइडलाइंस क्या पालतू कुत्ता-बिल्ली से भी फैल सकता है कोरोना वायरस? | घर बैठे इस तरह बनाएं फेस मास्क | इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

इसी तरह आशीष श्रीवास्तव @ashish520226 लिखते हैं, ‘काफी दुखद…पर फोटो लेने के बाद आपने उनकी मदद की होगी यही अपेक्षा रखता हूं।’ राहुल @Rahulpa33723993 लिखते हैं, ‘हे परमात्मा! क्या इसी विश्व की परिकल्पना हमारे पूर्वजों और महापुरुषों ने की थी! जिसमें किसी को झूठी दिलासा के लिए पत्थर उबालने पड़ रहे हैं और कोई खाने से ज्यादा अन्न की बर्बादी कर रहे हैं, गरीब और गरीब, अमीर और अमीर होता जा रहा है, दर्दनाक।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus in World 1 May 2020 Highlights: जापान एक महीने तक बढ़ा सकता है इमरजेंसी; ऑस्ट्रेलिया कर रहा खेल से जुड़े आयोजन शुरू कराने पर विचार
2 कोरोना से हलकान अमेरिका: ट्रकों में दिखे दर्जनों सड़े शव, तीन करोड़ लोग बेरोजगार, ट्रम्प ने लगाए जासूस
3 2 लाख लोगों पर अमेरिका में लटकी तलवार, जून तक खत्म हो जाएगा H-1B वीजा, फिर खो देंगे रहने का अधिकार