ताज़ा खबर
 

काबुल: बस में विस्फोट से एक की मौत, 10 घायल

यह हमला उस वक्त हुआ है जब तालिबान ने वार्षिक बसंत उत्सव की आधिकारिक शुरुआत से पहले हमले तेज कर दिए हैं।

Author काबुल | March 13, 2017 11:11 PM
काबुल स्थित जिला नपलिस मुख्यालय में आत्मघाती ब्लास्ट के बाद वहां से उठता धुआं। (AP Photo/ Rahmat Gul/1 March, 2017/File Photo)

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सोमवार (13 मार्च) को व्यस्त समय के दौरान एक बस में शक्तिशाली विस्फोट हुआ। किसी संगठन ने इस धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन यह हमला उस वक्त हुआ है जब तालिबान ने वार्षिक बसंत उत्सव की आधिकारिक शुरुआत से पहले हमले तेज कर दिए हैं। गृह मंत्रालय ने शुरुआती सूचना के आधार पर बताया कि विस्फोट में कम से कम एक महिला की मौत हो गई और आठ लोग घायल हो गए। काबुल पुलिस के प्रवक्ता बसीर मुजाहिद ने कहा, ‘काबुल में मिनीबस को निशाना बनाकर विस्फोट किया गया।’ इससे पहले बीते बुधवार (8 मार्च) को अफगानिस्तान के सबसे बड़े सैन्य अस्पताल पर बंदूकधारियों ने हमला किया था जिसमें 100 से अधिक लोग मारे गए थे।

काबुल के सैन्य अस्पताल पर आतंकी हमले में 30 से ज़्यादा की मौत, इस्लामिक स्टेट ने ली ज़िम्मेदारी

काबुल स्थित अफगानिस्तान के सबसे बड़े सैन्य अस्पताल पर बुधवार (8 मार्च) को डॉक्टरों की भेष में हमला करने वाले आतंकवादियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की छह घंटे चली मुठभेड़ में 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है जो अफगानिस्तान में अपना असर बढ़ा रहा है। इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने एक प्रामाणिक टेलीग्राम खाते से भेजे अपने वक्तव्य में सरदार मोहम्मद दाउद खान अस्पताल में किये गये हमले की जिम्मेदारी ली है।

राजधानी के वजीर अकबर खान इलाके के दो असैन्य अस्पतालों के निकट स्थित 400 शैया वाले यह सैन्य सरदार मोहम्मद दाउद खान अस्पताल पर आतंकवादी हमले में 50 अन्य घायल हो गए। विस्फोटों और गोलियों की आवाज से राजधानी काबुल का राजनयिक इलाका दहल गया। अस्पताल के वार्डों में छिपे दहशतजदा मेडिकल स्टाफ ने सोशल मीडिया पर मदद के लिए हताशा भरे संदेश डाले। टीवी फुटेज में दिखाया गया कि मेडिकल स्टाफ में से कुछ सबसे ऊपर वाली मंजिल की खिड़कियों के छज्जे पर शरण ले रखी थी।

अस्पताल के एक कर्मचारी ने फेसबुक पर लिखा, ‘हमलावर अस्पताल के अंदर हैं। हमारे लिये दुआ कीजिये।’ अस्पताल प्रशासकों ने एएफपी को बताया कि विस्फोट के बाद चिकित्सकों के सफेद कोट पहने तीन बंदूकधारी अस्पताल में घुस आये जिससे वहां अफरातफरी मच गयी। अस्पताल प्रशासक अब्दुल हाकिम ने एएफपी को टेलीफोन पर जल्दबाजी में बताया, ‘हमलावर हर जगह गोलियां चला रहे हैं। हम स्थिति को नियंत्रण में करने की कोशिश कर रहे हैं।’ जब अफगान विशेष बल हमलावरों को काबू में करने की कोशिश कर रहे थे तो कम से कम दो अन्य तेज धमाकों की आवाज सुनी गयी।

पाकिस्तान: लाहौर के बाजार में बम धमाका, 8 की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App