ताज़ा खबर
 

रमजान में सहरी के लिए जगाने पर 5 मुस्‍ल‍िम युवक गिरफ्तार, लगे ये आरोप

गिरफ़्तार हुए एक फ़िलिस्तीनी मोहम्मद हजीजी ने मीडिया से कहा, “मोहल्ले में हज़ारों लोग हैं जो नस्लों से चली आ रही इस परंपरा के जारी रहने के इच्छुक हैं जबकि शिकायत करने वाले दस हैं।”

रमजान के दौरान मस्जिद में मुस्लिम (पीटीआई फोटो)। तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

रमज़ान में सहरी के लिए उठाने वाले मुस्‍ल‍िमों को इजरायली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इजराइली मीडिया हेरेट्ज़ की रिपोर्ट के अनुसार इजरायली पुलिस ने इन फ‍लिस्‍त‍िनियों पर जुर्माना भी लगाया है। रमज़ान में सहरी के लिए उठाने वाले इन मुस्‍ल‍िमों को मुशाराती कहते हैं। ये लोग रमज़ान के महीने में गलियों में गश्त करके लोगों को सहरी खाने के लिए जगाते हैं। मुसलमान रोज़ा रखने के लिए तड़के खाना खा लेते हैं। इसे ही सहरी कहा जाता है। सहरी के लिए उठाने के लिए ये लोग म्‍यूजिक का इस्‍तेमाल करते थे। इजरायली पुलिस का कहना है कि कुछ यहूदी परिवारों ने मुशाराती की शिकायत की थी। इसी शिकायत के बाद यह एक्‍शन हुआ है।

आपको बता दें कि अमेरि‍का ने भी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में फ‍लिस्‍त‍िनियों की सुरक्षा के लिए लाए गए एक प्रस्ताव पर वीटो कर दिया है। आपको बता दें कि फिलिस्तीन के विरोध के बावजूद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरुशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता दे दी है।

गिरफ़्तार हुए एक फ़िलिस्तीनी मोहम्मद हजीजी ने मीडिया से कहा, “मोहल्ले में हज़ारों लोग हैं जो नस्लों से चली आ रही इस परंपरा के जारी रहने के इच्छुक हैं जबकि शिकायत करने वाले दस हैं।” उन्होंने बताया, “जगाने का काम 20 मिनट चलता है। मुझसे कहा गया कि पहली बार 450 शेकेल, दूसरी ओर 1000 शेकेल और उसके बाद 1000 शैकेल जुर्माना लगेगा।” हजीजी ने बताया कि पुलिस ने धक्का देकर उनका अपमान किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App