ताज़ा खबर
 

इंग्लैंड : सभी वयस्कों की सप्ताह में दो बार कोरोना जांच

कारोबार, दुकानों और रेस्तरां पर से पाबंदियों को हटाने की शुरुआत करते हुए ब्रिटिश सरकार ने कहा कि कोई भी शुक्रवार से सप्ताह में दो बार स्वयं और परिवार के सदस्यों की कोरोना जांच करा सकता है। उम्मीद की जा रही है कि इस पहल से वैज्ञानिकों को भी कारगर तरीके से कोरोना विषाणु के नए प्रकार का पता लगाने में मदद मिलेगी।

corona vaccination, covidकोरोना टीके का परीक्षण करतीं विशेषज्ञ चिकित्सक। (फाइल फोटो)

ब्रिटेन की सरकार ने बिना लक्षण वाले कोरोना विषाणु संक्रमितों का पता लगाने के लिए सोमवार को नई रणनीति की घोषणा की। सरकार के मुताबिक इंग्लैंड में रहने वाले सभी लोग शुक्रवार से सप्ताह में दो बार मुफ्त, नियमित और त्वरित कोरोना जांच करा सकेंगे।

कारोबार, दुकानों और रेस्तरां पर से पाबंदियों को हटाने की शुरूआत करते हुए ब्रिटिश सरकार ने कहा कि कोई भी शुक्रवार से सप्ताह में दो बार स्वयं और परिवार के सदस्यों की कोरोना जांच करा सकता है। उम्मीद की जा रही है कि इस पहल से वैज्ञानिकों को भी कारगर तरीके से कोरोना विषाणु के नए प्रकार का पता लगाने में मदद मिलेगी क्योंकि अधिक लोगों की जांच करने से नए विषाणु के प्रकार का पता लगाने एवं उस पर नियंत्रण करने की संभावना बढ़ेगी। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि ब्रिटिश जनता को कोरोना विषाणु के प्रसार को रोकने के लिए बड़ी पहल करनी होगी।

चूंकि हम टीकाकरण कार्यक्रम में अच्छी प्रगति कर रहे हैं और सतर्कतापूर्वक पाबंदियों को हटाने की कार्ययोजना पर काम चल रहा है, ऐसे में नियमित जांच और महत्त्वपूर्ण है व इससे सुनिश्चित होगा कि हमारी कोशिशें बेकार नहीं जाएं। उन्होंने कहा कि इसलिए हम पूरे इंग्लैंड में सभी के लिए अब मुफ्त त्वरित जांच की शुरूआत करने जा रहे हैं जो महामारी को रोकने और उस पर नजर रखने में हमारी मदद करेगी।

इससे हम अपने प्रियजनों को देख सकेंगे और उन कार्यों का आनंद ले सकेंगे जो हम करना चाहते हैं। ब्रिटेन में अब तक मुफ्त त्वरित कोरोना जांच की सुविधा केवल उन लोगों को उपलब्ध थी जिन्हें सबसे अधिक खतरा है या जो काम के लिए घर से निकलते हैं, जिनमें राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के कर्मी, नर्स आदि शामिल हैं। वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक ब्रिटेन में अब तक 43,73,798 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 1.27 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

Next Stories
1 भारत से कपास और चीनी का आयात, महज 24 घंटे में क्यों पलट गया पाकिस्तान
2 स्वेज नहर में जाम : कितना नुकसान, भारत पर क्या असर
3 फ्रांस की वेबसाइट ने राफेल सौदे में जताई भ्रष्टाचार की आशंका, कांग्रेस ने की जांच की मांग तो BJP बोली- सुप्रीम कोर्ट और CAG ने सही ठहराई डील
ये पढ़ा क्या?
X