ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में बड़ी कार्रवाई- आतंकी मसूद अजहर के भाई समेत प्रतिबंधित संगठनों के 44 लोग गिरफ्तार

Jaish e Muhammad Chief Masood Azhar: पाकिस्तान में मंगलवार को प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर समेत प्रतिबंधित संगठनों के 44 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

masood azharPulwama Terror Attack: जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर। (file photo)

Jaish e Muhammad Chief Masood Azhar: पाकिस्तान ने आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बढ़ते राजनयिक दबाव के बाद मंगलवार को बड़ा कदम उठाया है। इस्लामाबाद से आ रही रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन पर कार्रवाई की है। पाकिस्तान के दुनिया न्यूज के अनुसार, गृह मंत्रालय ने कहा कि जैश सहित प्रतिबंधित संगठनों के 44 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार लोगों में जैश प्रमुख मसूद अजहर का भाई मुफ्ती अब्दुर रउफ और हम्मद अजहर भी शामिल है। बता दें जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले के उपर हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी जैश ने ली थी। इस हमले में करीब 40 जवान शहीद हो गए थे।

पीटीआई के अनुसार, पाकिस्तान के गृह राज्य मंत्री शहरयार खान अफरीदी ने इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पिछले सप्तान भारत ने पाकिस्तान को एक डोजियर सौंपा था, इसमें मुफ्ती अब्दुर रउफ और हम्मद अजहर का नाम शामिल था।” भारत ने जैश ए मोहम्मद के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान को एक डॉजियर सौंपा था जिसके बाद इस्लामाबाद पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा आतंकवादी के रूप में चिन्हित व्यक्तियों और संगठनों के खिलाफ कार्रवाई का दबाव बना।

मंत्री ने कहा, “यह कार्रवाई किसी तरह के दवाब में नहीं की गई है। नेशनल एक्शन प्लान के तहत सभी आरोपी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह कार्रवाई दो हफ्तों तक जारी रहेगी और सबूतों के आधार पर गिरफ्तार व्यक्तियों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।” मंत्री ने कहा, “उनकी सरकार की यह नीति है कि पाकिस्तान की मिट्टी से किसी को भी आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की इजाजत नहीं दी जाएगी।” गृह सचिव खान ने कहा कि राष्ट्रीय कार्रवाई योजना के तहत सभी प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह योजना 2014 में पेशावर के एक सेना स्कूल पर हुए हमले के बाद बनाई गई थी। इस हमले में ज्यादातर बच्चों सहित करीब 150 लोग मारे गये थे।

एक सवाल के जवाब में, खान ने कहा कि हाफिज सईद नीत ‘जमात उद दावा’ और इसकी चैरिटी शाखा फला ए इंसानियत फाउंडेशन को 24 घंटों के भीतर प्रतिबंधित किया जाएगा। पाकिस्तानी सरकार ने 21 फरवरी को घोषणा की थी कि वह ‘जमात उद दावा’ और ‘फला ए इंसानियत फाउंडेशन’ पर प्रतिबंध लगाएगी। हालांकि राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक प्राधिकरण की वेबसाइट के अनुसार, ‘जमात उद दावा’ और ‘फला ए इंसानियत फाउंडेशन’ अब भी निगरानी सूची में हैं।

इससे एक दिन पहले, पाकिस्तान में सोमवार को व्यक्तियों और संगठनों के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को लागू करने हेतु प्रक्रिया को सुचारू बनाने के लिए एक कानून लाया गया था। इस आदेश की व्याख्या करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि इसका मतलब यह हुआ कि सरकार ने देश में सक्रिय सभी प्रतिबंधित संगठनों की संपत्तियों को अपने नियंत्रण में ले लिया है। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रिपोर्ट: 3 दिन तक भट्ठी में पत्रकार जमाल खशोगी को भूना, फिर उसी में पकाया मांस
2 भारत से तीन गुना है चीन का रक्षा बजट, पूरी दुनिया में दूसरे नंबर पर
3 डोनाल्ड ट्रंप बोले- भारत बहुत टैक्‍स लगाता है, जवाब में हम भी उतना ही वसूलेंगे
IPL 2020
X