ताज़ा खबर
 

आतंकी संगठन की धमकी- पीएम मोदी को मारकर करेंगे भारत के टुकड़े, फहराएंगे इस्लामिक झंडा

मौलाना बशीर अहमद खाकी ने खुद को लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद का संदशवाहक बताया और कहा, "इस्लाम का झंडा बहुत जल्द ही भारत और पाकिस्तान में लहराया जाएगा। मोदी मारा जाएगा। भारत और इजरायल के छोटे-छोटे टुकड़े किए जाएंगे ताकि वहां ज्यादा से ज्यादा शहीद निकल सकें।"

हाफिज सईद और पीएम मोदी

देश की आर्थिक नगरी मुंबई में आतंकवादी हमलों (26/11) के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा ने रमजान के पवित्र महीने में मुस्लिम युवकों को जिहाद छेड़ने के लिए उकसाया है। इस आतंकी संगठन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने और भारत एवं अमेरिका में इस्लामिक झंडा फहराने की भी धमकी दी है। जमात-उद-दावा से जुड़े एक आंतकी मौलाना बशीर अहमद खाकी ने पाक अधिकृत कश्मीर के रावलकोट में शुक्रवार (08 जून) को जुमे की नमाज के बाद समाचार एजेंसी एएनआई कहा, “रमजान का पवित्र महीना जिहाद और कत्ल के लिए माकूल होता है। इस दौरान जिहाद करते हुए जो लोग शहीद होंगे उनके लिए हमेशा जन्नत के दरवाजे खुले रहेंगे।” इसके बाद खाकी ने कहा, “जमात-अद-दावा के लड़ाके अभी भी कश्मीर में जिहाद छेड़े हुए हैं और भारतीय सैनिकों से लड़ रहे हैं। वे लोग कश्मीर की आजादी और भारत की बर्बादी के लिए जिहाद छेड़े हुए हैं।” खाकी ने मुस्लिम युवकों से जिहाद में शामिल होने और काफिरों के खिलाफ झंडा उठाने का आह्वान किया है।

बता दें कि मुंबई हमलों के बाद अमेरिका ने लश्कर-ए-तैयबा पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद हाफिज सईद ने जमात-उद-दावा नामक संगठन बनाया था और इसके बैनर तले ही वो पाक अधिकृत कश्मीर में भारत के खिलाफ आतंकी घटनाओं को अंजाम देता रहा है। लश्कर-ए-तैयबा सौ उससे संबद्ध आतंकी संगठन लगातार तश्मीर घाटी में आतंकी भेजते रहे हैं। खाकी ने पाक अधिकृत कश्मीर में रह रहे लोगों से अपने-अपने बेटे को जिहाद में शामिल कराने का भी आह्वान किया है। खाकी ने लोगों से जिहाद के नाम पर लोगों से गेहूं, राशन या कैश जमात-उद-दावा को दान करने की भी अपील की है।

मौलाना बशीर अहमद खाकी ने खुद को लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद का संदशवाहक बताया और कहा, “इस्लाम का झंडा बहुत जल्द ही भारत और पाकिस्तान में लहराया जाएगा। मोदी मारा जाएगा। भारत और इजरायल के छोटे-छोटे टुकड़े किए जाएंगे ताकि वहां ज्यादा से ज्यादा शहीद निकल सकें।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App