ताज़ा खबर
 

Ivanka Trump in Hyderabad: ग्लोबल इंटरप्रिन्युरशिप समिट में शामिल होने के लिए हैदराबाद पहुंची डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका

Ivanka Trump in Hyderabad: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप ग्लोबल इंटरप्रिन्युरशिप समिट यानी वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मंगलवार को भारत पहुंच चुकी हैं।

Author नई दिल्ली | November 28, 2017 11:32 AM
मंगलवार को सुबह 4 बजे हैदराबाद पहुंची इवांका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप ग्लोबल इंटरप्रिन्युरशिप समिट यानी वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मंगलवार को भारत पहुंच चुकी हैं। बता दें कि पहली बार जीईएस दक्षिण एशिया में आयोजित होने वाले इस समिट की मेजबानी भारत कर रहा है। तीन दिवसीय सम्मेलन 28 नवंबर से 30 नवंबर तक हैदराबाद इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर और हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय ट्रेड फेयर में चलेगा। इवांका सहित इस सेशन में 100 मेहमान शामिल होंगे। इस समिट में इवांका ट्रंप अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत का।

इस समिट के बारे में भारत में अमेरिका के राजदूत केनेथ जस्टर ने सोमवार को कहा था कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र (इंडो-पैसिफिक रीजन) में अमेरिकी व्यापार व निवेश को भारत का सहारा मिल सकता है। अमेरिकी राजदूत का यह बयान मंगलवार को हैदराबाद में शुरू हो रहे वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन (जीईएस) की पूर्व संध्या पर आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पुत्री इवांका ट्रंप इस सम्मेलन को संबोधित करेंगे। आर्थिक संबंध को समग्र रणनीतिक भागीदारी का अहम हिस्सा बताते हुए उन्होंने जीईएस को दोनों देशों के बीच अत्यंत मजबूत रणनीतिक भागीदारी के दूसरे अहम संकेत व स्पष्ट सूचक के रूप व्याख्यायित किया।

अमेरिकी राजदूत ने एक प्रेस कान्फ्रें स में कहा, ‘आर्थिक संबंध भी उतना ही रणनीतिक होना चाहिए जितना कि सुरक्षा से जुड़े संबंध। भारत को समय के साथ खुद को प्रशांत-हिंद क्षेत्र में अमेरिकी व्यापार और निवेश के सहारे के रूप में देखना चाहिए। इससे ना सिर्फ हमारे रणनीतिक संबंध का महत्व बढ़ेगा बल्कि इस क्षेत्र में अमेरिका की पूर्ण बल के साथ दीर्घकालिक उपस्थिति भी सुनिश्चित करेगा।’ वहीं नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि जीईएस के जरिये वे उद्यमिता, स्टार्ट-अप्स, प्रौद्योगिकी विघटन व नवाचार के लिए बेहतर माहौल तैयार कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App